केंद्रीय विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 7000 पदों पर भर्ती का रास्ता साफ- सुशील मोदी

PATNA: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने केंद्रीय विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती को लेकर सोशल मीडिया के माध्यम से बड़ी जानकरी दी है। केंद्र सरकार ने विश्वविद्यालय को इकाई मानकर रिजर्वेशन देने संबंधी अध्यादेश को संसद से पारित करा लिया, जिससे दलितों-पिछड़ों को पूरा न्याय मिलेगा। इसके साथ ही केंद्रीय विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 7000 पदों पर भर्ती का रास्ता साफ हो गया है।

अपने ट्वीट में सुशील मोदी ने बताया है कि इस विधेयक की मंजूरी से एनडीए सरकार इलाहबाद हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले को पलटने में कामयाब रही, जिसमें विभागवार रिजर्वेशन देने की बात कर दलित-पिछड़े वर्ग को न्याय से वंचित रखा गया था।

इसी के साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने पर जो लोग सरकार की दमदार पैरवी और मंशा पर सवाल उठाकर दलितों को भड़का रहे थे। वो लोग अब संसद में बिल पास होने पर चुपम क्यों हो गए। केंद्रीय संस्थानों में सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहुत बधाई।