चुनावी संग्राम में सासाराम से मीरा कुमार के सामने पिता की ‘विरासत’ बचाने की चुनौती

meira kumar and chhedi

PATNA: आम तौर पर ऐसा कहा जाता है कि पिता की विरासत को संभालने का दारोमदार बेटों के कन्धे पर होता है लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव(lok sabha election) में बिहार की सासाराम लोकसभा सीट पर अपने पिता बाबू जगजीवन राम(Jagjivan Ram) की विरासत बचाने के लिए मीरा कुमार(Meira Kumar) पूरी ताकत झोंके हुए हैं।

कलकत्ता से अपने राजनीतिक जीवन का आगाज़ करने वाले बाबू जगजीवन राम और सासाराम एक-दूसरे के पर्याय रहे हैं। कांग्रेस की सासाराम सीट परंपरागत रही है। उसी सीट पर आज मीरा कुमार के सामने अपने पिता बाबू जगजीवन राम की विरासत बचाने की बेहद बड़ी चुनौती है.

meria kumar

 

यह स्थान शेर शाह सूरी का जन्मस्थान होने के साथ साथ इतिहास के अलावा राजनीति के पन्नों में बेहद खास स्थान रखता है। सासाराम संसदीय सीट सुरक्षित है। इस लोकसभा चुनाव में पिछले लोकसभा चुनाव की तरह सीधा मुकाबला महागठबंधन प्रत्याशी कांग्रेस नेता मीरा कुमार और एनडीए की ओर से बीजेपी प्रत्यासी छेदी पासवान(Chhedi Paswan) के बीच है।

हालांकि यहां कुल मिलाकर 13 प्रत्याशी चुनाव में मैदान वोटरों के बीच अपनी दावेदारी को पक्का करने में जोरदार तरीके से लगे हैं. बताते चलें कि सासाराम सीट में अंतिम और सातवें चरण में 19 मई को मतदान की प्रक्रिया होना है. सासाराम में सवर्ण वर्ग की बात करें तो यहाँ पर अधिकता ब्राह्मण और राजपूत सबसे ज्यादा हैं, लेकिन पूरे सासाराम में मतदाताओं की सबसे अधिक संख्या दलित वोटरों की है।

दलितों में मीरा कुमार जिस जाति से आती हैं “रविदासों” की लॉबी पहले नंबर पर है। छेदी पासवान की जाति “पासवान” की बात की जाये तो वो इस लोकतंत्र के महा पर्व में सासाराम से दूसरे नंबर पर अपनी सहभागिता दर्शा रहे है।

बताते चलें कि अगर बात 2014 के लोकसभा चुनाव की करें तो बीजेपी प्रत्याशी छेदी पासवान ने मीरा कुमार को मिले मतों में से पचास हजार से अधिक वोट पाकर के जीत दर्ज की थी। पासवान को 366087 (43.23 प्रतिशत) वोट मिले थे।

दिग्गज प्रत्याशी मीरा कुमार को जिन्हें 302760 वोट मिले थे बीजेपी प्रत्यासी छेदी पासवान ने 366087 मत प्राप्त करके करारी शिकस्त दी थी। देखना ये होगा की क्या इस बार मीरा कुमार अपने पिता की विरासत बचाने के लिए क्या कुछ करती हैं और छेदी पासवान के विजय-रथ को रोक पाती हैं की नहीं।