सैकड़ों करोड़ के सृजन घोटाले में बड़ी कार्रवाई, IAS-IPS अधिकारियों के खिलाफ जल्द होगी चार्जशीट

PATNA : सैकड़ों करोड़ के सृजन घोटाले में बिहार कैडर के दो वरीय अधिकारियों पर सीबीआई का शिकंजा कसनेवाला है। इनमें एक आईएएस और दूसरे आईपीएस अफसर हैं। वर्तमान में आईएएस अधिकारी विशेष सचिव रैंक में, जबकि आईपीएस अधिकारी आईजी रैंक के हैं। जांच के दौरान सीबीआई को इनके खिलाफ महत्वपूर्ण साक्ष्य हाथ लगे हैं।

भागलपुर, बांका और सहरसा से जुड़े सृजन घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने जांच के दौरान भागलपुर में पदस्थापित रहे प्रमुख अधिकारियों के भूमिका की भी जांच-पड़ताल की थी। इन दो अधिकारियों को लेकर सीबीआई आरोप-पत्र समर्पित करने की तैयारी कर चुकी है। सीबीआई ने राज्य सरकार से इनके संबंध में जानकारी और कार्रवाई की इजाजत मांगी है। दोनों अधिकारी फिलहाल पटना में पदस्थापित हैं। जिस आईएएस अधिकारी का नाम सामने आ रहा है वह भागलपुर समेत कई जिलों में डीएम रहे चुके हैं। वहीं, आईपीएस अधिकारी भी भागलपुर में काफी दिनों तक तैनात रहे हैं।

2006-07 में ही घोटाले की नींव पड़ी : सृजन महिला विकास सहायोग समिति लिमिटेड नामक एनजीओ के जरिए घोटाले का यह खेल 2006-07 में ही शुरू हो गया था। हालांकि मामले का खुलासा 2017 में हुआ था। भागलपुर जिला प्रशासन को विभिन्न योजनाओं की रकम सरकार द्वारा भेजी जाती थी। भागलपुर जिला प्रशासन के बैंक खातों में पहुंची रकम को प्रशासन द्वारा विभिन्न योजनाओं के लिए खोले गए सरकारी बैंक खातों में ट्रांसफर किया गया। घोटाले की नींव यहीं से पड़ी। अधिकारियों के फर्जी हस्ताक्षर कर इन बैंक खातों से रुपए सृजन एनजीओ के खातों में ट्रांसफर कर दिए जाते थे। एनजीओ द्वारा पैसा बाजार में सूद पर लगाया जाता था।

The post सैकड़ों करोड़ के सृजन घोटाले में बड़ी कार्रवाई, IAS-IPS अधिकारियों के खिलाफ जल्द होगी चार्जशीट appeared first on Mai Bihari.