समाज के लिए मिसाल: 100 वर्षों से ये मुस्लिम परिवार बना रहा छठ पूजा की महत्वपूर्ण सामग्री

PATNA: बिहार और उत्तर-प्रदेश में छठ पूजा की तैयारियां जोरों पर हैं। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं। वहीँ छठ पूजा पर समाज में मुस्लिम -हिन्दू भाई चारे का संदेश भी नजर आ रहा है। बिहार के छपरा में एक मुस्लिम परिवार पिछले 100 वर्षों से छठ पूजा की सामग्री बना रहा है। ये परिवार हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक है।

छपरा जिले के एक गांव के बहुत से मुस्लिम परिवार कई वर्षों से छठ पूजन के लिए अरता पात बनाने का काम करते आ रहे हैं। छठ पूजा में प्रयोग होने वाला अरता पात छठ के लिए महत्वपूर्ण पूजन सामग्रियों में से एक है, लेकिन कम ही लोग जानते होंगे कि इसे बनाने वाले अधिकांश लोग मुस्लिम परिवारों के होते है। छपरा के झौंवा गांव में अरता पात का बड़े पैमाने पर उत्पादन होता है और यहां से बिहार के साथ-साथ देश के कई अन्य जिलों में भी जाता है।

छठ को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गंगा घाटों का निरीक्षण किया। सीएम नीतीश कुमार के साथ इस दौरान उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद रहे। सीएम नीतीश कुमार ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर भी की।

मीडिया से बात करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि छठ के लिए अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था में लगे हुए हैं। किसी तरह का कोई हादसा न हो इसकी भी विशेष तैयारी की गई है। उन्होंने आगे कहा कि इस बार गंगा का ज’लस्तर ऊंचा है इसको भी ध्यान में रखा गया है और बैरिकेटिंग कराई गई है।