CAA को संवैधानिक करार देने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, CJI बोले-देश की हालत देख चिंतित हूँ

Patna : CAA के खिलाफ प्र/दर्शन पर सुप्रीम कोर्ट चिंतित, CJI बोबडे बोले- देश कठिन समय से गुजर रहा है

नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ देशभर में हो रहे वि/रोध प्र/दर्शनों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की है. सीजेआई CJI एस ए बोबडे ने कहा कि देश कठिन समय से गुजर रहा है. शांति के लिए प्रयास होना चाहिए. दरअसल पुनीत कौर ढांडा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके उस पर जल्द सुनवाई की मांग की थी. याचिका में कहा गया है कि ‘झूठी अ/फवाहें’ फैलाने वाले एक्टिविस्ट, छात्रों, मीडिया हाउसों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. और CAA को ‘संवैधानिक’ घोषित करने की मांग की गई है. इस पर सीजेआई ने कहा कि इस तरह की याचिकाएं मदद नहीं करती. जब हिं/सा रुकेगी हम संवैधानिकता पर सुनवाई करेंगे.

साथ ही CJI बोबडे ने कहा कि हम कैसे घोषित कर सकते हैं कि संसद द्वारा पारित एक अधिनियम संवैधानिक है? हमेशा संवैधानिकता का ही अनुमान लगाया जाता है. यदि आप किसी समय कानून के छात्र रहे तो आपको पता होना चाहिए.

गौरतलब है कि देश के कई हिस्सों में नागरिकता कानून के खिलाफ वि/रोध प्रद/र्शन हो रहे हैं. गुरुवार को सीएए-एनआरसी के विरोध में भाजपा के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा के नेतृत्व वाले गैर-राजनीतिक संगठन ‘राष्ट्र मंच’ ने मुंबई से दिल्ली तक ‘गांधी शांति यात्रा’ शुरुआत की. यात्रा के गुजरात से गुजरने के दौरान विभिन्न विपक्षी दलों के नेता शामिल हो सकते है. मुंबई के अपोलो बन्दर से नौ जनवरी को शुरू हुई 3,000 किलोमीटर लंबी यह यात्रा महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और हरियाणा से होकर 30 जनवरी को दिल्ली के राजघाट पर समाप्त होगी.