उपराष्ट्रपति के सामने छलका CM नीतीश का दर्द, फिर की केंद्रीय विश्वविद्यालय के दर्जे की मांग

PATNA: राजधानी पटना पहुंचे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के सामने एक बार फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दर्द सामने आ गया। उपराष्ट्रपति के सामने सीएम नीतीश कुमार ने एक बार फिर पटना विश्वविद्यालय के केंद्रीय विश्वविद्यालय के दर्जे की मांग की।

रविवार को पटना में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की उपस्थिति में सीएम नीतीश ने अपनी बात रखते हुए कहा कि हमने पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने की मांग की थी लेकिन हमारी मांग को खारिज कर दिया गया। वहीँ सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा की एतिहासिक पटना विवि को आज तक केंद्रीय यूनिवर्सिटी का दर्जा नहीं मिला।

NITISH kumar

नीतीश कुमार ने कहा कि अगर केंद्र सरकार हमारी मांग को स्वीकार कर लें तो पटना विश्वविद्यालय एशिया स्तर का विश्वविद्यालय बन जाएगा। सीएम ने आगे कहा कि हमें इसके लिए जितना फंड देना होगा उसके लिए हम तैयार हैं।

समारोह में मौजूद राजयपाल को लेकर नीतीश कुमार ने कहा कि इस मौके पर आज राज्यपाल (चांसलर साहब) भी उपस्थित हैं, हम चाहेंगे कि पुस्तकालय की सभी किताबें सुरक्षित रहें। सीएम ने कहा कि जो पुस्तक लाइब्रेरी में हैं उसके प्रति छात्रों को जानकारी देनी होगी. पटना विश्वविद्यालय को आगे बढ़ाने में अगर उपराष्ट्रपति जी और राज्यपाल साथ हो गए तो विश्वविद्यालय का सपना सच हो जाएगा।

बता दें रविवार को पटना विश्वविद्यालय के पुस्तकालय की स्थापना के 100 साल पूरे हो गये। जिसे लेकर शताब्दी समारोह का आयोजन किया गया है। इस कार्यक्रम में देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी सम्मिलित हुए।