बढ़ते डेंगू को लेकर एक्शन में आए CM नीतीश, अधिकारियों से कहा- बचाव और इलाज के हों पुख्ता इंतजाम

PATNA: बिहार में बाढ़ और भारी बारिश के बाद बीमारियों का प्रकोप देखने को मिल रहा है। राज्य में डेंगू के मरीज लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को एक मीटिंग बुलाई। इस बैठक में सीएम नीतीश ने अधिकारियों को डेंगू से बचाव और उपचार के निर्देश दिए।

सीएम नीतीश ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के मुख्य सचिव दीपक कुमार और प्रधान सचिव संजय कुमार को राज्य में बढ़ते डेंगू को लेकर उपचार और बचाव के सभी उपाय करने के निर्देश दिए। सीएम नीतीश ने कहा कि डेंगू के इलाज के लिए राज्य में उचित व्यवस्था होनी चाहिए। इस मामले में किसी तरह की कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

LIVE BIHAR

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जलजवाम वाले इलाकों में होने वाली बीमारियों पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य टीमों की तैनाती की है। इसी के साथ ही एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि राज्य में चिकनगुनिया और डेंगू पर पूरी तरह से नियंत्रित है। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि गुरुवार को पटना में पीएमसीएच और एनएमसीएच में डेंगू की जाँच के लिए मुफ्त में शिविर भी लगाया जाएगा।

बता दें राजधानी पटना सहित उसके आसपास के जिलों में डेंगू बुखार का प्रभाव देखने को मिल रहा है। पटना में ही 600 से अधिक लोग डेंगू की चपेट में आ गए हैं। बारिश के बाद जिस तरह से डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ी है उससे सरकार सतर्क हो गई है। पटना सहित अन्य जिलों में डेंगू ने अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है। राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक़ अबतक 980 डेंगू के मरीजों की संख्या पहुँच गई है। बात अगर पीएमसीएच की करें तो प्रत्येक दिन 100 से अधिक मरीज यहाँ डेंगू से प्रभावित भर्ती हो रहे हैं।