अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के चलते सीएम नीतीश ने रद की अपनी यात्रा

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को केंद्र में रख अपनी मधेपुरा, किशनगंज व पूर्णिया की यात्रा स्थगित कर दी। नीतीश कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आए वो सभी को मानना चाहिए। लोग शांति और आपसी सौहार्द का वातावरण बनाए रखें।

देश की सर्वोच्च न्यायालय आज इस केस का फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा है कि रामलला का दावा बरकरार। 3 महीने के अंदर ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया गया है। मुस्लिम पक्ष (सुन्नी वक्फ बोर्ड) को 5 एकड़ जमीन कहीं और देने की बात कही गई है।

केंद्र सरकार राम मंदिर और ट्रस्ट बनाने के लिए नियम तैयार करेगी। कोर्ट ने कहा कि पक्षकार गोपाल विशारद को पूजा का अधिकार है। फैसला आने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता से शांति बनाने की अपील की थी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा।

राम मंदिर निर्माण के लिए कोर्ट ने केंद्र सरकार को तीन महीने के अंदर ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने यह फैसला सर्वसम्मति से दिया है। सुन्नी वक्फ को 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन मिलेगी। पक्षकार गोपाल विशारद को पूजा-पाठ का अधिकार मिला है।