झारखंड में आमने-सामने आईं कांग्रेस और RJD, तेजस्वी ने कहा-गठबंधन में हमें 2 सीट भी नहीं दीं

PATNA : बिहार महागठबंधन में बड़े विवाद के बाद सभी दलों की सहमति बनी लेकिन अगर बात झारखंड की करें तो यहाँ भी महागठबंधन की नींव रखी गई लेकिन यहाँ महागठबंधन बनता नहीं बिखरता नजर आ रहा है। झारखंड में चतरा सीट पर कांग्रेस और आरजेडी (RJD) आमने-सामने आ गई हैं।

झारखंड की चतरा सीट से कांग्रेस पार्टी ने मनोज यादव को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है। वहीँ शुक्रवार को सुभाष यादव ने भी आरजेडी के उम्मीदवार के रूप में चतरा सीट से नामांकन कर दिया। वहीँ नामांकन के बाद सुभाष यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि महागठबंधन मजबूत है और कांग्रेस से प्रत्याशी नहीं उतारने के लिए अपील की जा रही है। वहीँ झारखंड में महागठबंधन को लेकर झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि महागठबंधन में समझौते के तहत पलामू आरजेडी के कोटे में चली गई है। चतरा में आरजेडी और कांग्रेस दोनों चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर झारखंड में महागठबंधन के घटक दल कांग्रेस और आरजेडी के बीच फ्रेंडली फाइट होगी।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

शुक्रवार को चुनाव प्रचार के लिए झारखंड पहुंचे आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव पार्टी प्रत्याशी सुभाष यादव के नामांकन में भी शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश में संविधान के बदले नागपुरिया कानून को लागू करना चाहती है। महागठबंधन को लेकर उन्होंने कहा कि आरजेडी शुरू से ही झारखंड में दो सीट मांग रही थी, लेकिन आरजेडी के लिए सीट बंटवारे में दो सीटें भी नहीं दी गईं।

इसी के साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा कि सबका मूल मकसद बीेजेपी को हराना ही है, क्योंकि देश के संविधान को बचाना है। तेजस्वी ने कहा कि यह चुनाव देश को बचाने की लड़ाई है। कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी उतारने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वैसी स्थिति में फ्रेंडली फाइट होगी। इसी के साथ बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी बिहार में जेडीयू की दोस्त बनी है तो फिर दुश्मन भी बन सकती है।