बिहार में कांग्रेस ‘बैक फुट’ पर खेलने को तैयार, गठबंधन के बाकी दलों के आगे झुकी

Patna: बिहार के महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर अभी पेच फंसा हुआ है। इस बार प्रदेश में ‘फंट फुट’ पर खेलने वाली कांग्रेस अब बैक फुट पर जाती नजर आ रही है। इससे माना जा रहा है कि ‘फ्रंट फुट’ पर खेलने की बात करने वाली कांग्रेस अब गठबंधन के बाकी दलों के आगे झुक गई है।

दरअसल सीट शेयरिंग पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा है कि कांग्रेस न तो ‘फ्रंट फुट’ पर और न ही ‘बैक फुट’ पर खेलेगी, कांग्रेस बिहार में साथ मिलकर खेलेगी। जाहिर है प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान के सियासी गलियारों में कई मायने निकाले जा रहे हैं और माना जा रहा है कि ‘फ्रंट फुट’ पर खेलने की बात करने वाली कांग्रेस अब गठबंधन के बाकी दलों के आगे झुक गई है। जाहिर है आरजेडी की इस दावेदारी के बाद कांग्रेस की ‘फ्रंट फुट’ पर खेलने की राणनीति को झटका लगा था। दरअसल आरजेडी के इस दावे के बाद कांग्रेस का 15 सीटों पर लड़ने का दावा पूरा होता नहीं दिख रहा क्योंकि कांग्रेस कमोबेश आरजेडी के आधार वोट बैंक के सहारे ही मैदान में खड़ी है।

RAHUL GANDHI

तो वहीं बहरहाल माना जा रहा है कि अगर आरजेडी कम से कम 20 सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी तो भी कांग्रेस के हिस्से में महज 10 सीटें ही आ सकती हैं। इस फॉर्मूले के तहत उपेन्द्र कुशवाहा को 4, जीतन राम मांझी की पार्टी को 2, भाकपा माले को 2, विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के मुकेश सहनी और शरद यादव को 1-1 सीटें दी जा सकती हैं। अगर गठबंधन में फिर भी बात नहीं बनी तो कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस को महज 8 सीटें ही दी जा सकती हैं। गौरतलब है कि इससे पहले तेजस्वी यादव ने भी 20 सीटों पर लड़ने का इशारा किया था। फिलहाल अंतिम रूप से अभी किसी भी दल ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं।