बैलगाड़ी से विधानसभा पहुंचे कांग्रेस के विधायक, सुरक्षाकर्मियों ने गेट पर ही रोका

PATNA : सोमवार से बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू हो गया। सत्र को लेकर राज्य के विधायकों में भी उत्साह देखने को मिला। करीब 10 दिन तक चलने वाले इस बजट सत्र के पहले दिन ही सदन में सदस्यों का अलग-अलग अंदाज सामने आया। सदन में जहाँ एक तरफ सत्तारूढ़ दल (एनडीए) के कुछ विधायक नमो अगेन वाला टी-शर्ट पहन कर पहुंचे तो वहीँ कांग्रेस पार्टी के विधायक अमित कुमार टुन्ना बैलगाड़ी से सदन पहुंचे।

QUAINT MEDIA
कांग्रेस पार्टी के विधायक अमित कुमार टुन्ना को बैलगाड़ी सहित विधानसभा के सुरक्षाकर्मियों ने गेट पर ही रिक दिया। अमित कुमार टुन्ना को विधानसभा परिसर में बैलगाड़ी से अंदर जाने की इजाजत नहीं दी गई। इस बात को लेकर कांग्रेस विधायक अमित कुमार टुन्ना और सुरक्षाकर्मियों में जमकर नोंकझोंक भी हो गई। इस हंगामें के बीच विधान पार्षद प्रेमचन्द मिश्रा ने पुलिस अधिकारी से फोन पर बातचीत कर मामले को शांत कराने को कहा। बैलगाड़ी से सभा पहुंचे कांग्रेस विधायक अमित कुमार टुन्ना के समर्थन में कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचन्द मिश्रा भी उतर आए। बैलगाड़ी से आने के सवाल पर अमित कुमार टुन्ना ने कहा कि लोग फार्च्यूनर से आ सकते हैं तो मैं किसानों की गाड़ी से क्यों नहीं ? वहीँ सदन में बिहार सरकार के पूर्व मंत्री अब्दुल जलील मस्तान अपनी बाइक से विधानसभा पहुंचे।

राज्यपाल लालजी टंडन के अभिभाषण के साथ ही बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू हो गया।  अपने संबोधन में राज्यपाल ने सरकार के विकास कार्यों की जानकारी देते हुए सरकार की प्राथमिकताओं को रखा सामने। उन्होंने कहा कि बिहार को बिहार को विकसित राज्य बनाने की कोशिश की गई है। सरकार की कोशिश रही है कि न्याय के साथ विकास की व्यवस्था सुनिश्चित हो। सरकार ने विकास के लिए रूपरेखा तैयार की है। भ्रष्टाचार पर सरकार की नीति  जीरो टॉलरेंस की है। भ्रष्टाचारियों  की संपत्ति जब्त करने का सुझाव ED को भेजा गया। अपराध नियंत्रण के लिए सरकार ने ठोस व्यवस्था की है। 2018 में हुए अपराधों में से अधिकांश का उद्भेदन हो चूका है। पिछले 1 साल में अपराध में कमी आई है।