कांग्रेस ने नकारा तेजस्वी के बयान को, कहा-JDU ने कभी नहीं की कांग्रेस के JDU में विलय की बात’

QUAINT MEDIA

PATNA: बिहार कांग्रेस ने तेजस्वी यादव के उस बयान को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें तेजस्वी यादव ने कहा था कि जेडीयू ने चाहती थी कि कांग्रेस का विलय उसमें हो जाए और वह एक बार फिर से महागठबंधन में शामिल हो जाए। तेजस्वी यादव के इस बयान से कांग्रेस पार्टी ने किनारा कर लिया है।

कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने मीडिया से बात करते हुए तेजस्वी यादव के बयान को किया ख़ारिज कर दिया। उन्होंने कहा नीतीश कुमार और जेडीयू की तरफ से कांग्रेस के पास किसी तरह का कोई प्रस्ताव नहीं आया, जेडीयू और कांग्रेस के विलय जैसा किसी तरह का कोई प्रस्ताव जेडीयू की ओर से नहीं दिया गया था। उन्होंने तेजस्वी यादव के बयान को सिरे से ख़ारिज कर दिया है।

QUAINT MEDIA

बता दें कि तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात कर कहा था कि नीतीश कुमार ने आरजेडी के पास प्रस्ताव भिजवाया कि वह दोबारा महागठबंधन में शामिल होना चाहते हैं। जिस पर लालू परिवार की ओर से साफ़ साफ़ इनकार कर दिया गया। वहीँ उन्होंने कहा कि आरजेडी ने नीतीश चाचा पर विश्वास नहीं किया तो उन्होंने कांग्रेस से संपर्क किया। नीतीश कुमार ने कांग्रेस से सम्पर्क कर शर्त रखी कि वह अपना इस्तीफ़ा दे देंगे और कांग्रेस को जेडीयू में विलय कर लेंगे। जिस पर कोंग्रस ने भी मना कर दिया।

तेजस्वी यादव ने कहा कि जेडीयू ने सीधे राहुल गाँधी से तो संपर्क नहीं किया लेकिन जेडीयू के नेताओं ने बिहार कांग्रेस के कुछ नेताओं से इस प्रस्ताव के बारे में चर्चा की। वहीँ अब बिहार कांग्रेस की ओर से तेजस्वी यादव के इस बयान को सिरे से खारिज कर दिया गया है। बिहार कांग्रेस के नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जेडीयू की ओर से कांग्रेस के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं आया था।