कांग्रेस की स्थिति इतनी दय’नीय हो गयी है कि पार्टी में इस्तीफा लेने वाले भी नहीं बचे-भाजपा

PATNA: भारतीय जनता पार्टी के नेता मिथलेश तिवारी ने कहा कि कांग्रेस की स्थिति त्रिशंकु की तरह हो गयी है। कांग्रेस कहां जाए और कहां नहीं जाएं, इसको लेकर वह बहुत उलझन में है। इसके कारणों को बताते हुए भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के पास अपना जनाधार और ईमानदार नेता नहीं है। इतना ही नहीं, कांग्रेस के जो भी नेता हैं, वो लगातार अपना इस्तीफा दे रहे हैं। अब स्थिति इतनी बिगड़ गयी है कि इस्तीफा स्वीकारने के लिए नेता ही नहीं बचे हैं। 

Congress

आपको बता दें कि हाल ही कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया। इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया, मिलिंद देवड़ा ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया। हाल ही कनार्टक में 10 कांग्रेस विधायक ने अपना इस्तीफा दे दिया है, जिससे सरकार गिरने की स्थिति में पहुंच चुकी है।

इन्हीं सभी मुद्दों को आधार बनाकर भाजपा लगातार हम’लावर है। गौरतलब है कि आज ही बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि वह अपने पद को लेकर गंभीर नहीं हैं। राहुल गांधी 16वीं लोकसभा में आंख मारते हुए पाये गए तो 17वीं लोकसभा में राष्ट्रपति के प्रथम अभिभाषण के समय स्मार्ट फोन चलाते हुए पाये गए।

क्या है कनार्टक का मुद्दा, जिसके कारण राहुल गांधी को नारेबाजी करना पड़ना-

आपको बता दें कि 13 महीने पुरानी कांग्रेस-जद (एस) सरकार पिछले सप्ताह राज्य विधानसभा की सदस्यता से 10 विधायकों के इस्तीफे के बाद संकट में पड़ गई थी। कांग्रेस के रोशन बेग और एच नागेश ने भी एचडी कुमारस्वामी सरकार से किनारा कर लिया है। कांग्रेस भाजपा पर कर्नाटक में गठबंधन सरकार को गिराने की साजिश रचने का आ’रोप लगाती रही है। सत्तारूढ़ गठबंधन अपनी सरकार की रक्षा के लिए सभी प्रयास कर रहा है जो बहुमत से कम हो गया है। राज्य विधानसभा में 225 सदस्य हैं, जिसमें एक मनोनीत विधायक भी शामिल है। 225 सदस्यीय विधानसभा में आधे का निशान 113 है।