IRCTC मामले में तेजस्वी यादव की याचिका पर फैसला सुरक्षित, कोर्ट 23 जुलाई को सुनाएगा फैसला

PATNA: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के छोटे बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव मंगलवार को IRCTC घोटाले के मामले को लेकर दिल्ली पटियाला कोर्ट में पेश हुए। इस दौरान तेजस्वी यादव की ओर अर्जी लगाकर ED के मामले चल रहे ट्रायल पर रोक लगाने की मांग की गई है। तेजस्वी यादव की अर्जी पर कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षति रख लिया है।

तेजस्वी यादव की अर्जी पर कोर्ट अब 23 जुलाई को अपना फैसला सुनाएगा। उस दिन कोर्ट अपने फैसले में यह तय करेगा कि जब तक CBI के दाखिल मामले में आरोप तय नहीं हो जाते तब तक ED के मामले में आरोप तय हो सकते हैं या नहीं। जानकारी के लिए बता दें कि ED ने यह केस CBI की FIR के आधार पर दर्ज किया था।

मंगलवार को IRCTC मामले की सुनवाई तेजस्वी यादव पटियाला कोर्ट में पेश हुए। इस दौरान उनकी ओर से अर्जी लगाकर ED के मामले पर चल रहे ट्रायल पर रोक लगाने की मांग की गई। जिस पर कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। तेजस्वी यादव ने अपनी अर्जी में कहा कि जब तक CBI के मामले में चल रहे ट्रायल पर आदेश नहीं आता है, तब तक ED के आरोपों पर बहस न करें।

इस मामले को लेकर ED ने जो चार्जशीट दाखिल की है उसमें लालू यादव के साथ उनकी पत्नी राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री प्रेमचंद्र गुप्ता, उनकी पत्नी सरला गुप्ता और तत्कालीन एमडी बीके अग्रवाल के के साथ अन्य लोगों को आरोपी बनाया। बता दें कि IRCTC के इस मामले में आरजेडी प्रमुख लालू यादव को इसी वर्ष जनवरी माह में ही जमानत मिल चुकी है। वहीं तेजस्वी और राबड़ी देवी को कोर्ट ने 6 दिसंबर को ही अंतरिम जमानत दे दी थी।