धोनी का पक्ष लेते हुए सीपी सिंह ने कहा कि इंडियन क्या पहनेगा, यह पाकिस्तानी नहीं तय कर सकता

RANCHI: रांची के BJP नेता सीपी सिंह ने कहा है कि महेन्द्र सिंह धोनी देश का मान-सम्मान बढ़ाने का काम किया है। वे आर्मी के चिन्ह वाले दस्ताने पहनकर मैच खेलें तो क्या गलत हो गया? क्या इस तरह के दस्ताने पहनकर मैच खेलने से बोलिंग, छक्का और चौका पर फर्क पड़ता है? क्या अब पाकिस्तान तय करेगा कि  हम किस तरह की गंजी, अंडरवियर पहनें? BCCI का कदम बिल्कुल सही है। देश की 130 करोड़ जनता BCCI और धोनी के साथ है, इसलिए किसी को घबराने की कोई जरुरत नहीं है। 

क्या है पूरा मामला-

अभी इंग्लैंड में ICC क्रिकेट विश्वकप-2019 चल रहा है। भारत ने 5 जून को इंग्लैंड में साउथ-अफ्रीका के साथ विश्वकप-2019 के लिए अपना पहला मैच खेला, जिसमें भारत ने जीत भी हासिल की। इसी मैच के दौरान धोनी ने अपने हाथों में इंडियन आर्मी के चिन्ह वाले दस्ताने पहन रखे थे, जिसे देखकर ICC ने BCCI को धोनी के खिलाफ शिकायत की थी और कहा कि इंडियन आर्मी के चिन्ह वाले दस्ताने पहनकर धोनी ICC क्रिकेट विश्वकप नहीं खेल सकते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (ICC) की इसी आदेश को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मानने से इंकार कर दिया है। इतना ही नहीं, BCCI ने पूरी तरह महेन्द्र सिंह धोनी का पक्ष लेते हुए कहा है कि आर्मी वाले दस्ताने पहनकर, अगर कोई क्रिकेट खेलता है तो इसमें किसी को किसी तरह की आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

विश्वकप 2019-

30 मई 2019 से इंग्लेंड एंड वेल्स में क्रिकेट का विश्वकप शुरु हो चुका है। पहला मैच 30 मई को इंग्लेंड और साउथ-अफ्रीका के बीच था, जिसे इंग्लेंड 104 रनों से जीता। वहीं दूसरा मैच West Indies और पाकिस्तान के बीच खेला गया, जिसमें West Indies ने पाकिस्तान को 7 विकेटों से, बुरी तरीकों से हराया। वहीं 14 जुलाई को विश्कप 2019 का फाइनल मैच लंदन में खेला जायेगा। इसबार का विश्वकप कौन जीतेगा यह तो 14 जुलाई को ही पता चलेगा।