मांझी को कुशवाहा से कम सीट मंजूर नहीं, कहा – सम्मानजनक सीट नहीं मिली तो दूसरा विकल्प देखेंगे

QUAINT MEDIA

PATNA : सीट बंटवारे को लेकर महागठबंधन में रार मचनी शुरू हो गई है। हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा है कि उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी से कम सीट हम पार्टी को मंजूर नहीं होगी। उन्होंने कहा कि लालू यादव के हाथों को मजबूत करने के लिए वो महागठबंधन में शामिल हुए थे लेकिन सीट बंटवारे पर महागठबंधन के नेताओं द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी को भी महागठबंधन में सम्मानजनक स्थान मिलना चाहिए। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अगर उन्हें सम्मानजनक सीटें नहीं दी गई तो वो कोई और विकल्प देखेंगे। जल्द ही वो लालू यादव से जाकर इस मसले पर बात करेंगे। हालांकि उन्होंने एनडीए में जाने की संभावना से इनकार कर दिया। 

पार्टी में मचे आंतरिक कलह पर मांझी ने कहा कि दानिश रिजवान और वृषण पटेल का इस्तीफा मंजूर कर लिया गया है। उन्होंने विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी पर आरोप लगाया कि वो अपने मन से कुछ भी बोलते रहते हैं। उन्होंने कहा कि राजद 20 सीट पर लड़ना चाहती है, कांग्रेस 19 सीट मांग रही है तो फिर हमारे लिए क्या बचेगा। मांझी ने कहा कि लालू यादव को सबल बनाने के लिए वो महागठबंधन में शामिल हुए थे लेकिन यहाँ उन्हें पर्याप्त सम्मान नहीं मिल रहा है। इससे पहले राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, ममता बनर्जी के धरने की आलोचना करने के लिए मांझी को नसीहत दे चुके हैं। रघुवंश प्रसाद ने तब कहा था कि महागठबंधन में सबको मिल कर रहना पड़ेगा।

QUAINT MEDIA

 

इससे पहले कल शाम को मांझी ने लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से मुलाक़ात की थी। सोमवार की शाम को तेज प्रताप यादव अचानक मांझी के आवास पर पहुंचे। हालांकि मुलाकात को तेज प्रताप ने चाचा और भतीजा के बीच की मुलाकात बताया था। उन्होंने कहा कि भतीजा चाचा के साथ चाय पीने आया है। मुलाक़ात के बाद मांझी ने बताया कि मुलाक़ात बहुत ही अच्छी रही।