पुलिस हिरासत में मौ’त पर सियासत तेज, पप्पू यादव पहुंचें मृतक तसलीम के घर

PATNA : सीतामढ़ी (SITAMADHI) में पुलिस हिरासत में हुई दो कैदियों की मौ’त के बाद राजनीति तेज हो गई है। जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव (Pappu Yadav) शनिवार की रात मृतक तस्लीम के घर पहुंचे और उसके परिवार से मुलाक़ात की। पप्पू यादव ने तस्लीम के परिवार को 50 हज़ार रुपये की सहायता राशि सौंपी और साथ ही न्यायिक प्रक्रिया में हरसंभव मदद का भरोसा दिया।  

गौरतलब है कि बीते 6 मार्च को दो अप’राधियों से जुल्म कबूल कराने के लिए पुलिस ने उन्हें हिरासत में इतनी पि’टाई की, कि दोनों की मौ’त हो गई। मामला सीतामढ़ी जिले का है। पुलिस ने बुधवार की देर रात पूर्वी चंपारण के चकिया से गुरफान और तस्लीम नाम के दो अप’राधियों को गिरफ्तार किया था। उसके बाद दोनों को अपराध कबूल करने के लिए जमकर पीटा गया जिससे उनकी हालत गंभीर हो गई। दोनों की बिगडती हालत देख कर पुलिस के हाथ-पैर फूल गए और आनन्-फानन में उन्हें सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ इलाज के दौरान दोनों अपराधियों की मौ’त हो गई।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

विपक्षी पार्टी राजद ने इस मामले में सरकार पर निशाना साधा और सवाल उठाये। राजद (RJD) प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने सरकार की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार के इशारे पर इस घटना को अंजाम दिया गया है। उन्होंने मामले की जांच कराये जाने की मांग की और साथ ही कहा कि स्पीड ट्रायल कर दोषियों को सजा दी जानी चाहिए। इस घटना को जोनल आईजी नैयर हसनैन खान ने गंभीरता से लेते हुए थानाध्यक्ष चंद्रभूषण सिंह समेत 8 पुलिस कर्मियों को सस्पेंड करने का निर्देश जारी किया। आइजी ने कहा कि  दोषियों पर कार्रवाई की जायेगी। लेकिन इस पर सियासत थमने का नाम नहीं ले रहा है। कल देर रात राजद नेता विनोद श्रीवास्तव ने भी दुसरे मृतक गुर्फान के  घर पहुंचे और उसके परिवारवालों से मुलाक़ात की। उन्होंने कहा कि मामले में पुलिस अपनी नाकामी छुपाने का काम कर रही है लेकिन राजद ऐसा नहीं होने देगी।