डेंगू के चलते हुई मौ’त तो थाने पहुंच गया पीड़ित परिवार, स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ शिकायत

PATNA: बिहार में डेंगू का कहर बढ़ता ही जा रहा है। मरीजों की संख्या 1600 के पार पहुँच गई है। वहीँ प्रशासन भी इसको लेकर सतर्क हो गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किसी भी तरह की लापरवाही सामने न आने की बात कही है। इसी बीच हाजीपुर से डेंगू पीड़ित की मौ’त ने तूल पकड़ लिया है।

इस मामले को लेकर बताया जा रहा है कि डेंगू पीड़ित की मौ’त के बाद उसके परिवार वाले थाने पहुंच गए ,जहाँ उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री सहित पीएमसीएच अधिकारियों के खिलाफ मा’मला द’र्ज कराने की बात कही। मृ’तक के परिवार के सदस्य शिकायत दर्ज कराने को लेकर जिद पर अड़ गए।

बता दें मृतक अर्चना की मौत ने पीएमसीएच के प्रशासन को भी हिलाकर रख दिया है। परिजनों का कहना है कि उन्होंने मरीज को बहुत ही गंभीर रूप से बीमार होने के बाद भर्ती कराया था। वहीँ जब पीएमसीएच में डेंगू की रिपोर्ट सामने आई तो उसमें डेंगू होने की बात नहीं कही गई। लेकिन एक निजी अस्पताल की रिपोर्ट के मुताबिक़ अर्चना को डेंगू बताया गया। इसी को लेकर अर्चना के परिवार के सदस्य काफी दिनों से इधर-उधर भटक रहे हैं।

मृ’तक अर्चना के परिवार वाले उनकी मौ’त के लिए राज्य के स्वास्थय मंत्री मंगल पांडेय, स्वास्थय विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार के साथ ही पीएमसीएच अधीक्षक के खिलाफ के’स दर्ज करवाने के लिये पुलिस के पास पंहुचे। मिली जानकारी के मुताबिक़ यहाँ पर भी मृ’तक के परिवार की कोई बात गंभीरता से नहीं सुनी गई।