देवघर को मिलेगा राष्ट्रीय स्वच्छता एक्सीलेंस अवार्ड

PATNA : झारखण्ड के तीन शहरों देवघर, साहिबगंज और चास को राष्ट्रीय स्वच्छता एक्सीलेंस अवार्ड के लिए चुना गया है। केन्द्रीय शहरी तथा आवास विकास मंत्रालय ने सोमवार को ये ऐलान किया। दीनदयाल अन्त्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका योजना के अंतर्गत ये अवार्ड 15 फ़रवरी को नई दिल्ली में प्रदान किया जायेगा। विज्ञानं भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ये अवार्ड प्रदान कर सकते हैं।  चास में पूरे शहर को तथा देवघर और साहिबगंज में एक-एक एरिया लेवल फेडरेशन को इसके लिए चुना गया है। 

देवघर नगर निगम के मैनेजर हिमांशु शेखर ने बताया कि दिल्ली से क्वालिटी कंट्रोल की टीम 3 जनवरी को शहर में आई थी और यहाँ उन्होंने साफ़ सफाई, पौलिथिन के प्रयोग, स्वच्छता, सडकों की स्थिति, सौचालय की स्थिति का जायजा लिया। उसके बाद शहर को इस अवार्ड के लिए चुना गया। शहरी विकास मंत्रालय के अनुसार देवघर ने पहला स्थान हासिल किया जबकि साहिबगंज दुसरे स्थान पर रहा।केंद्र सरकार की सूची में, झारखंड और बिहार के दो नागरिक निकायों को पुरस्कार के लिए चुना गया है, जबकि असम, आंध्र प्रदेश, हिमाचल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश में एक-एक प्रविष्टि है।

QUAINT MEDIA

पिछले छह महीनों में, यह दूसरी बार है जब देवघर को स्वच्छता सेवा गुणवत्ता के लिए सुर्खियों में रखा गया है। सितंबर 2018 में, बाबाधाम मंदिर को भारत सरकार के पेय और जल स्वच्छता विभाग द्वारा देश के 10 मंदिरों में से 3 स्वच्छ प्रतिष्ठित स्थान घोषित किया गया था। देवघर के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि इसका श्रेय नगर निगम के सदस्यों और उन लोगों को जाता है जो वार्डों में गुणवत्ता स्वच्छता सेवाओं को बनाए रखने में लगे हुए हैं। हम स्वच्छता अभियान के लिए गंभीर हैं। इस संबंध में, हम इस क्षेत्र के कॉर्पोरेट घरानों में घूम चुके हैं। बाबाधाम का सौंदर्यीकरण सर्वोच्च प्राथमिकता पर है और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत अभियान चलाया जा रहा है। निश्चित रूप से इस तरह के पुरस्कार हमें गुणवत्ता स्वच्छता बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।