शहीद कांस्टेबल प्रभाकर को विदाई देने पहुंचे DGP, बोले- बिहार में अब अपराधियों की खैर नहीं

PATNA : बिहार में लगातार बढ़ रही अपराध की घटनाओं के बीच डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने दावा किया है कि सूबे में अब अपराधियों की खैर नहीं है। DGP गुरुवार को शहीद हुए जवान प्रभाकर को पटना पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि देने के लिए गए थे।

गुरुवार को शहीद हुए जवान प्रभाकर को पटना पुलिस लाइन में पुलिस के वरिष्ठ पदाधिकारियों के द्वारा आखिरी सलामी दी गई। मोतिहारी के गोला पकड़िया के भागी रामा गांव में जन्मे प्रभाकर ने 2011 में पटना पुलिस में ज्वाइन किया था और काबिल कांस्टेबलों में उसकी गिनती होती थी। बुधवार को दानापुर कोर्ट से भागने की कोशिश में लगे अप’राधियों को काबू करने के दौरान वो उनकी गो’ली का शि’कार हो गए थे, जिससे बाद में श’हीद हो गए।

DGP बोले अब अपराधियों की खैर नहीं-

मीडिया से बात करते हुए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा है कि अब बहुत हुआ अब अप’राधियों की खैर नहीं है। अब उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। शहीद को श्रद्धांजलि देने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि बिहार में एक एक गुं’डे और अप’राधी को चिन्हित करके उन पर कार्रवाई की जाएगी। आपको बता दें कि गुरुवार को भारी बारिश के बीच उसे अंतिम विदाई दी गई। शहीद जवान को पटना पुलिस लाइन में पटना पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष सहित सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने अपनी नम आंखों से विदाई दी। कल कुछ अप’राधी कोर्ट से फरार होने की कोशिश कर रहे थे तभी शहीद प्रभाकर ने उनको पकड़ने का प्रयास किया जिसमें उन लोगों ने उन पर गोली चला दी थी और उनकी शहादत हो गयी थी। शहीद प्रभाकर मोतिहारी के गोला पकड़िया के भागी रामा गांव के रहने वाले थे।