श्रावणी मेले को लेकर मुंगेर DM ने की बैठक, कहा- श्रद्धालुओं की सुविधाओं का रखा जाएगा विषेश ध्यान

PATNA: श्रावण महीने में शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी लाइनें देखने को मिलती हैं। श्रावण में शिव की भक्ति का महत्त्व भी काफी बढ़ जाता है। अब विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला के शुरू होने में कुछ ही दिन बचे हैं। इस मेले की तैयारियों के लिए मुंगेर जिलाधिकारी राजेश मीणा ने एक बैठक में श्रद्धालुओं की सुविधाओं पर चर्चा की।

इस बैठक में जिलाधिकारी राजेश मीणा ने श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई दिक्कत, परेशानी ना हो इस पर चर्चा की और सुविधाओं के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए। इस बैठक को लेकर जिलाधिकारी राजेश मीणा ने बताया कि 17 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो रहा है। इस बार पहला सोमवार 22 जुलाई को है।


डीएम राजेश मीणा ने श्रद्धालुओं को दी जाने वाली सुविधाओं के लेकर बताय कि मुंगेर क्षेत्र में पड़ने वाले 26 किलोमीटर की पैदल मार्ग में श्रद्धालुओं को किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो इसके लिए खास व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने बताया कि रास्ते में पड़ने वाले होटल और कई दुकानदारों को निर्देश दे दिया गया है कि कांवड़ियों से सामान के बदले अधिक कीमत ना वसूलें।

इसी के साथ ही श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर डीएम ने बताया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र होने के चलते यहां सुरक्षा को लेकर विशेष पुलिस की टीम तैयार की जाएगी। पुलिस की टीम इस क्षेत्र में हमेशा चौकस रहेगी। वहीं, उन्होंने कांवड़ियों के आने जाने के लिए बनाए गये रूट चार्ट के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कांवड़ियों को जाने के लिए विशेष रूट चार्ट बनाया गया है। इस रास्ते में पड़ने वाले सभी सड़कों और पुलों की मरम्मत कराया जाएगा। जिससे श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो।