पीड़ितों को देखने मुजफ्फरपुर पहुंचे डॉ. हर्षवर्धन, साथ में अश्विनी चौबे और मंगल पांडेय

PATNA: Muzaffarpur में एईएस (AES) के चलते हो रही बच्चों की मौत के बीच रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के साथ अश्विनी चौबे और मंगल पांडेय ने मुजफ्फरपुर का दौरा किया। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने राज्य को केंद्र की ओर से हर संभव मदद का भरोसा दिया।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मुज़फ्फरपुर में मीडिया से बात करते हुए बताया कि केंद्र सरकार की ओर से एक टीम भी मुज़फ्फरपुर में जाँच कर रही है। जल्द ही टीम जाँच पूरी कर राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। इस दौरान हर्षवर्धन ने हीट स्ट्रोक से बचने की बात कही और साथ ही कहा कि ज्यादा जरूरत होने पर ही धूप में निकलें। वहीँ अगर आपको चक्कर, सिर दर्द, बुखार होने की समस्या हो तो सीखे डॉक्टर्स से मिलें और डॉक्टर द्वारा बताई गईं बातों पर अमल करें।

वहीँ रविवार को जब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन पटना पहुंचे तो नाराज लोगों ने उन्हें काले झंडे दिखाए। हर्षवर्धन को लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा। बताया जा रहा है कि पप्पू यादव के समर्थकों ने स्वास्थ्य मंत्री को काले झंडे दिखाए। बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर जिले में सबसे ज्यादा बच्चों की मौत का आंकड़ा सामने आया है।

बता दें कि बिहार के 12 जिलों में एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस जानलेवा बीमारी से मुजफ्फरपुर जिला बिहार में सबसे ज्यादा प्रभावित है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राज्य में अब तक इस बीमारी और लू से 100 से अधिक जान जा चुकी हैं।