पटना गाँधी मैदान में जलने से पहले ही गिरा रावण का पुतला, कुंभकरण और मेघनाद के साथ होगा दहन

PATNA: आज पूरे प्रदेश में दशहरा उत्सव को धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। राजधानी पटना में दशहरा मनाने की तैयारियां लगभग पूरी हो गयी हैं। सोमवार रात को जलने से पहले ही रावण का पुतला धराशायी हो गया। लेकिन बाद में उसे अपनी जगह पर खड़ा कर दिया गया।

इस बार बाढ़ के चलते भी दशहरा की रौनक में किसी तरह की कोई कमी नहीं आई है। पटना के गाँधी मैदान में इस वर्ष भी धूमधाम से दशहरा मनाया जाएगा। इस बार 75 फीट का रावण, 70 फीट का कुंभकरण और 65 फीट के मेघनाद के पुतले बनाए गए हैं।

दशहरा कमेटी के अध्यक्ष कमल नोपानी, ट्रस्टी डॉ. टीआर गांधी, कोषाध्यक्ष राजेश बजाज ने कार्यक्रम जानकारी देते हुए कहा कि समारोह की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। इस कार्यक्रम की शुरुआत शाम 4:30 बजे से होगी। वहीं कार्यक्रम 5:30 बजे तक चलेगा। इसी के साथ ही उन्होंने बताया कि इस बार 75 फीट के रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। इसके लिए गया से कुशल कलाकारों को बुलाया गया है। इस वर्ष सभी पुतलों का निर्माण गांधी मैदान में ही किया गया।

वहीँ खराब मौसम के चलते कमिटी के प्रमुख ने सभी पुतलों को प्लास्टिक की चादर से ढंकने का आदेश भी दिया है। मंगलवार को पुतलों के जलाने से पहले ही प्लास्टिक की चादर हटा ली जाएगी। वहीँ इस वर्ष समारोह की रौनक रशियन कलाकार होंगे। ये कलाकार कार्यक्रम में भजन प्रस्तुत करेंगे। इसके साथ ही बक्सर से आए कलाकार पटना युवा आवास से एक भव्य झांकी गाधी मैदान तक निकालेंगे।