बिहार में इको-टूरिज्म विकसित करने के लिए मोदी सरकार ने एक भी रुपया नहीं दिया-राजीव प्रताप रूडी

PATNA: लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी के ही सारण से सांसद राजीव प्रताप रूडी ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को बिहार के साथ भेद’भाव करने का ‘आरोप लगाया है। उन्होंने लोकसभा के प्रश्नकाल के दौरान कहा कि बिहार में इको-टूरिज्म विकसित करने के लिए केंद्र सरकार ने एक भी पैसा नहीं दिया है।

RAJIV PRATAP RUDI AND PM MODI
भाजपा की सरकार पर उसके अपने ही नेताओं ने बिहार के साथ भे’दभाव करने का आ’रोप लगा रहे हैं-

राजीव प्रताप रूडी का कहना है कि वे लगातार तीन साल से बिहार में इको-टूरिज्म विकसित करने की पहल करे रहे हैं लेकिन हर साल कोई न कोई खोट और नियम-कानून का हवाला देकर वित्तीय सहायता नहीं दी गयी। उन्होंने लोकसभा में कहा कि सोनपुर के पशु मेला के विकास के लिए पर्यटन मंत्रालय से कई बार अपील की है लेकिन सरकार ने अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि गंगा और गंडक नदी में दुर्लभ जंतु डॉल्फिन पाई जाती है। यह डॉल्फिन बिहार के सारण में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है लेकिन सरकार यहां भी ध्यान नहीं दे रही है। आपको बता दें कि उनके इस सवाल के बाद कुछ विपक्षी नेताओं ने भी भाजपा पर तंज कसने के लिहाज से जोरदार तालियां बजायी।

गौरतलब है कि आपको बता दें कि आज ही लोकसभा में दरभंगा से भाजपा सांसद गोपाल जी ठाकुर ने कहा कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र में वर्षों से एम्स की स्थापना आवश्यकता पर लगातार सवाल उठाये जा रहे हैं लेकिन सरकार ने अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया। इस तरह देखा जा रहा है कि लगातार भाजपा के नेता के द्वारा ही केन्द्र की भाजपा सरकार पर बिहार के साथ भेदभाव का मामला सामने आ रहा है। ऐसे में केन्द्र की मोदी सरकार को अपने नेताओं द्वारा सुझाए गये मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए और इसके लिए उपयुक्त कदम भी उठाना चाहिए।