चुनाव आयोग की सोशल मीडिया पर पैनी नज़र, आयोग ने 8 सदस्यीय मॉनिटरिंग सेल का किया गठन

PATNA : लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद चुनाव आयोग ने चुनाव प्रक्रिया पर अपनी पैनी नजर रखना शुरू कर दिया है। इसके लिए चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए एक विशेष योजना भी बना ली है। बता दें कि वर्तमान में सोशल मीडिया प्रचार का एक बहुत बड़ा माध्यम बन गया है। इसी को देखते हुए और आचार संहिता के मद्देनजर चुनाव आयोग ने अपनी कमर कस ली है।

आचार संहिता को देखते हुए अगर सोशल मीडिया की बात करें तो इस पर निगरानी रखना चुनाव आयोग के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। इससे निपटने के लिए चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए एक मॉनिटरिंग सेल का गठन किया है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

बता दें कि जब से लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हुआ है तब से सोशल मीडिया पर भी लोगों के एक दूसरे पर हमले तेज हो गए हैं। इतना ही नहीं सोशल मीडिया की ताकत को समझते हुए बहुत से फर्जी अकाउंट भी बनाकर लोगों द्वारा गलत बयानबाजी पोस्ट की जा रही है। जिसके चलते वे विरोधियों पर निशाना साधने में जुटे हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर कंटेंट की मॉनिटरिंग के लिए एक मॉनिटरिंग सेल का गठन किया है। चुनाव आयोग द्वारा गठित की गई इस सेल में सोशल मीडिया के एक्सपर्ट को रखा गया है।

आयोग द्वारा गठित की गई इस टीम में कुल आठ लोगों को शामिल किया गया है। यह सेल चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर आयोग की इजाजत के बिना राजनीतिक विज्ञापन और किसी पार्टी को समर्थन करने वाली गतिविधियों पर अपनी पैनी नजर रखेगी। बता दें कि लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद पुरे देश में आचार संहिता लागू हो गयी है। इसी के मद्देनजर राजनीतिक दलों के पोस्टर और विज्ञापन हटाने के काम भी शुरू हो गये हैं। चुनाव आयोग की पहल पर गठित मॉनिटरिंग सेल सोशल मीडिया पर शिकंजा कसने का काम करेगी।