ELECTION 2019 : राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए सिंगल विंडो से मिलेगी 24 घंटे में अनुमति

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

PATNA : चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद से देश में आचार संहिता लागू हो गई। चुनावी घोषणा के बाद प्रशासन ने भी अपनी कमर कस ली है। प्रशासन आचार संहिता को देखते हुए सख्ती से कार्रवाई कर रहा है। इसके लिए पटना जिला निर्वाचन पदाधिकारियों द्वारा कई निर्देश भी जारी किये गए हैं।

जिला निर्वाचन कार्यालय की ओर से बताया गया है कि राजनीतिक दलों को प्रचार के लिए सिंगल विंडो से 24 घंटे में अनुमति मिल जाएगी। इसके लिए निर्वाचन आयोग द्वारा व्यवस्था की जा रही है। सिंगल विंडो सिस्टम अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय से काम करेगा। इस कार्यालय से राजनीतिक दलों को प्रचार, जनसभा, जुलूस और रैली के लिए माइक का प्रयोग करने आदि की अनुमति प्रदान की जाएगी।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

चुनाव की तैयारियों की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि 24 घंटे के अंदर राजनीतिक दलों को प्रचार, जनसभा आदि की अनुमति प्रदान करने की कोशिश की जाएगी। इन सभाओं और रैलियों के लिए इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जाएगा कि इन जनसभाओं से अमुक शैक्षणिक संस्थान में शैक्षणिक कैलेंडर प्रभावित न हो और सरकारी भवन में भी किसी तरह का कोई कामकाज प्रभावित नहीं हो।

इसी के साथ ही डीएम कुमार रवि ने बताया कि इस बात का भी पूरा ध्यान रखा जायेगा कि पोलिंग बूथ के 200 मीटर पहले तक ही निजी वाहन को ले जाया जा सके। वहीँ दिव्यांगों के लिए इस बार विशेष सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए जिले के लगभग 31 हजार दिव्यांगों को बूथ तक जाने और वापस छोड़ने के लिए तैयारी की जा रही है। इसके लिए प्रशासन डाटा तैयार कर रहा है कि किस तरह के दिव्यांग हैं।

इसी के साथ पटना जिलाधिकारी कुमार रवि और एसएसपी गरिमा मलिक ने साफ और कड़े शब्दों में कहा है कि 50 हजार से अधिक नकद साथ लेकर चलने वाले व्यक्ति उससे संबंधित कागजात साथ रखें। वहीँ पकड़े जाने पर उनसे पुलिस पूछताछ करेगी। वहीँ अगर पूछताछ में मामला राजनीतिक निकलता है तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। आचार संहिता की जानकारी देने को लेकर बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा कि इस दौरान होने वाली शादी-समारोह के चलते आम लोगों को कोई परेशानी नहीं हो इसके भी विशेष प्रयास भी किये जा रहे हैं।