बड़े बड़े सुपरस्टार्स को नाचने वाली फरहा ख़ान के माता पिता को गरीबी के कारण होना पड़ा था अलग

PATNA:  आज जन्मदिन है एक बहुत ही जबरदस्त कलाकार की, जिसने सिर्फ फिल्में डायरेक्ट करके या प्रोड्यूस करके अपना नाम नहीं बनाया। बल्कि, बड़े बड़े सुपरस्टार को अपने डांस स्टेप पर नचा के अपना नाम बनाया। इनका नाम है फराह खान। फरहा का जन्म 9 जनवरी 1965 में हुआ। इनके पिता कामरान खान बॉलीवुड में एक स्टंटमैन थे। बाद में उन्होंने 50 और 60 के दशक में बॉलीवुड में फिल्म में भी बनाने लगे। इनकी मां मेनका ईरानी मशहूर चाइल्ड आर्टिस्ट हनी ईरानी और डेजी ईरानी की बहन है। इस रिश्ते से फरहा खान फरहान अख्तर और जोया अख्तर की कजिन हुई। उनके छोटे भाई का नाम साजिद खान है, जो कि एक कॉमेडियन एक्टर और फिल्म डायरेक्टर है।

इनके वालिद एक मुस्लिम और मां एक ज़ोरास्ट्रीयन पारसी थी। जब फराह खान बहुत छोटी थी तभी इनके माता-पिता अलग हो गए। फरहा ने बताया था की, घर की स्थिति बहुत मुफलिसी में गुजर रही थी, तब उनके माता-पिता एक दूसरे से अलग हो गए। कामरान खान की फिल्में फ्लॉप हो रही थी इस वजह से हालात बहुत ही खराब हो रहे थे। इनकी मां ने बड़ी गरीबी में दो बच्चों को पाला।
फरहा खान मुम्बई के सेंट जेवियर्स कॉलेज में पढ़ रही थी, तब माइकल जैकसन की एल्बम थ्रिलर रिलीज हुई थी। हालांकि फराह खान ने पहले कोई डांस परफॉर्मेंस नहीं दी थी। लेकिन माइकल जैकसन से इतनी प्रभावित हुई की, डांसिंग इन का पैशन बन गया। फराह खान दरअसल असिस्टेंट डायरेक्टर बनकर फिल्म इंडस्ट्री में आई थी। मशहूर फिल्म ‘जो जीता वही सिकंदर’ के डायरेक्टर मंसूर खान की असिस्टेंट बन कर आयी। फिल्म ‘जो जीता वही सिकंदर’ के शूटिंग के दौरान फराह खान ने डांसरों को नए-नए स्टेप्स सिखाना शुरू किया। यह बात डायरेक्टर मंसूर खान तक पहुंची।

इसके पीछे की भी कहानी बहुत दिलचस्प है। मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान मंसूर खान की फिल्म छोड़कर दक्षिण की एक मूवी में कोरियोग्राफी करने चली गई। मंसूर खान के पास कोई चारा नहीं था। जब देखा कि फराह बड़ी शिद्दत से दूसरों को डांस स्टेप सिखा रही है, तो गाना ‘पहला नशा पहला खुमार’ के लिए सुपुर्द किया गया पर फरहा को, कोरियोग्राफी के लिए।
यह गाना सुपर डुपर हिट साबित हुआ। फरहा के कोरियोग्राफी की सबने तारीफ की और एक नई डांस मास्टर फिल्म इंडस्ट्री को मिल गई। यह बात भी गौर करने लायक है की, फराह खान की मां सलमान खान के वालिद सलीम खान की हीरोइन बनकर आयी थी। फरहा, साजिद और सलमान का बचपन तकरीबन साथ साथ ही बीता। फरहा खान ने बड़ी बड़ी फिल्मों के लिए कोरियोग्राफी की, Bombay Dreams, Vanity Fair, Monsoon Wedding।

फरहा खान को बेस्ट कोरियोग्राफी के लिए अवार्ड दिया गया, वह भी एक नहीं 6 मर्तबा। फना का की बहुत अच्छी दोस्ती हो गई शाहरुख खान से और फिल्म के सेट पर यह दोस्ती रंग लाई और उसके बाद उन्होंने ठान लिया था कि मौका मिलेगा तो साथ काम जरूर करेंगे। उसके बाद फराह खान ने अपनी पहली फिल्म डायरेक्ट कि ‘मैं हूं ना’। इसमें सुपरस्टार शाहरुख खान नजर आएं‌। इसके बाद ‘ओम शांति ओम’ जिसमें उन्होंने एक नई हीरोइन को मौका दिया था। दीपिका पादुकोण जो आगे जाकर सुपरस्टार साबित हुई।

बहुत वर्षों के बाद, बेला भंसाली सहगल की डायरेक्ट की ‘शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी’ में मेन लीड में नज़र आई फराह खान। और उनके हीरो थे बोमन ईरानी। इस मूवी को करने के बाद वाकई में फराह खान इतिहास रच दिया। कहीं पर बतौर बैकग्राउंड डांसर नज़र आई, तो कहीं इत्तेफाकन मिला कोरियोग्राफी का मौका, इन्हें बुलंदियों पर ले गया। इसके बाद फरहाक्षने मल्टीस्टारर मूवी ‘हैप्पी न्यू ईयर’ डायरेक्ट की। कोरियोग्राफर डांसर प्रोड्यूसर और उसके बाद रियलिटी शो की जज भी बनी और टेलीविजन की सेलिब्रिटी चैट शो की होस्ट भी बनी। फरहान खान अपने बेबाक रवैये के लिए जानी जाती है। फरहान खान उन गिनी चुनी फिम डायरेक्टर्स में से है जिन्होंने अपने दम पर बड़ी एंटरटेनिंग फिल्में बनायी। भारतीय सिनेमा के इतिहास में फरहा खान का नाम बहुत गर्व से लिया जाएगा।

The post बड़े बड़े सुपरस्टार्स को नाचने वाली फरहा ख़ान के माता पिता को गरीबी के कारण होना पड़ा था अलग appeared first on Mai Bihari.