SDM के साथ बदसलूकी पर कानूनी पचड़े में फंसे अश्विनी चौबे, दर्ज हुई FIR

PATNA: केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के प्रमुख नेता अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। प्रचार के दौरान ज्यादा गाड़ियों के काफिले के साथ निकले अश्विनी चौबे की एसडीएम के साथ हुई बहस के बाद केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, बीजेपी नेता राणा प्रताप सिंह के साथ करीब 150 अन्य लोगों पर आइपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

एसडीएम के साथ बदसलूकी और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर इन सभी नेताओं पर केस दर्ज किया गया है। बता दें इन सभी नेताओं पर ड्यूटी में कार्यरत नौकरशाह पर बदसलूकी और जानलेवा हमला करने के आरोप में ये प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बता दें कि शनिवार को भाजपा की विजय संकल्प रैली के चलते बक्सर के किला मैदान में आयोजित की गई रैली के दौरान सदर अनुमंडल पदाधिकारी कृष्ण कुमार उपाध्याय और अश्विनी कुमार चौबे के बीच तीखी बहस हो गई। इस दौरान अश्विनी चौबे ने एसडीएम को फटकार लगा दी और खरी-खोटी भी सुनाई। जिसका विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

अश्विनी चौबे और एसडीएम के बीच हुई गरमा-गरम बहस से हंगामा हो गया। दरअसल पूरा मामला ये था कि जब अश्विनी चौबे किला मैदान से बाहर निकलने लगे तो एसडीएम ने उन्हें रोक दिया।  इससे अश्विनी चौबे गर्म हो गए और गाड़ी के अन्दर से ही चिल्लाते हुए बोले-क्या बात है बोलो? एसडीएम ने कहा कि बिना इजाजत वाली गाड़ियों को जब्त करना है तो अश्विनी चौबे चिल्लाते हुए बोले किसकी मां की मजाल है कि गेट बंद कर दे? इस पर एसडीएम ने कहा कि चुनाव आयोग का आदेश है। तो अश्विनी चौबे बोले मुझे हथकड़ी लगवाओगे, लो लगा दो। खबरदार तमाशा मत करिए आप लोग। उन्होंने कहा मेरी गाड़ियाँ हैं इसे जब्त नहीं कर सकते हो। हंगामें के बाद एसडीएम ने कहा कि इन नेताओं पर आचार संहिता का मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।