एक लाख में मिल रहा पांच करोड़ वाला कैमरा, बिहार साइंस कांफ्रेंस का हुआ भव्य आयोजन

PATNA : कॉलेज ऑफ कॉमर्स, आर्ट्स एंड साइंस में चल रहे बिहार साइंस कांफ्रेंस के दूसरे दिन कई लेक्चर हुए। इसमें तीन प्लेनरी टॉक भी हुए। पहले प्लेनरी टॉक में स्वीडन की कंपनी एक्सेल डॉट एडी के सीईओ डॉ. संजीव कुमार शर्मा ने लेक्चर दिया।

उन्होंने एक कैमरा दिखाते हुए कहा कि पहले यह कैमरा पांच करोड़ में आयात किया जाता था, लेकिन अब इसका नया वर्जन उन्होंने बनाया है, जिसकी कीमत सिर्फ एक लाख है। उन्होंने बताया कि कैमरे की क्वालिटी लगभग पूर्व की तरह ही है। वहीं डॉ. संजीव ने सेमी कंडक्टिंग इंडस्ट्री को भारत में कैसे बढ़ाया जाए, इस पर व्याख्यान दिया। बताया कि वे ऐसा यंत्र बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जिससे पानी से आर्सेनिक आसानी से व कम लागत पर निकाला जा सके। दूसरे प्लेनरी सेशन में पैकेजिंग क्लीनिक एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (हैदराबाद) के निदेशक वीके वर्मा ने पैकेजिंग की भूमिका पर बात की। उनकाजोर था कि खाद्य पदार्थों को पैकेजिंग के माध्यम से कैसे बचाया जा सकता है। उन्होंने 2030 तक भारत को हंगर फ्री बनाने के पैकेजिंग के रौल कोदर्शाया।

patna

प्लेनरी टॉक के बाद समानांतर पांच तकनीकी सत्र हुए, जिसमें फिजिलक साइंस, केमिकल साइंस, प्लांट साइंस, टयोंटी फॉर इन टू सेवन एनर्जी और अर्थ एंड इनवायरमेंट साइंस शामिल रहे। देश के विभिन्न हिस्सों से आए शोधकर्ता इन तकनीकी सत्रों में अपने शोधपत्र प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का संयोजन देख रहे डॉ. संतोष कुमार ने बताया कि 42-43 शोधपत्र दूसरे दिन प्रस्तुत हुए हैं। शाम में सेंटर फॉर फ्लोरिसिस रिसच(एएन कॉलेज) के प्रभारी प्रो. बिहारी सिंह ने प्लेनरी टॉक में लोगों को संबोधित किया।

The post एक लाख में मिल रहा पांच करोड़ वाला कैमरा, बिहार साइंस कांफ्रेंस का हुआ भव्य आयोजन appeared first on Mai Bihari.