मानसून सत्र के पहले ही दिन झारखंड सरकार ने पेश किया अनुपूरक बजट

RANCHI : आज से झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र शरू हो गया। पहले ही दिन सरकार ने अनुपूरक बजट पेश कर दिया है। ये बजट 3908 करोड़ रुपये का है। पांच दिन के इस सत्र में सूखा समेत कई मुद्दे को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में है। इसीलिए ये पूरा सत्र हंगामेदार रह सकता है।

आज हुआ मानसून सत्र का आगाज-

स्पीकर के भाषण से झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो गया है। इस सत्र के लिए स्टीफन मरांडी, अशोक कुमार, फूलचंद मंडल, आलमगीर आलम और विमला प्रधान को सभापति बनाया गया है। इसके अलावा कार्यमंत्रणा समिति में स्पीकर, सीएम, नेता प्रतिपक्ष, रामचंद्र सहिस, आलमगीर आलम सदस्य बनाए गये हैं। सत्र के दौरान सदन में कई मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। सूखे के मुद्दे को कांग्रेस विधायक सदन में उठा सकते हैं।

चौथी विधानसभा का यह अंतिम सत्र है। इसके बाद सभी विधायकों को चुनावी तैयारी में जुटना होगा। दिसम्बर 2014 में गठित इस विधानसभा का कार्यकाल दिसम्बर 2019 में समाप्त हो जाएगा। हंगामे के कारण कई सत्रों में काम नहीं हुए। लगातार कई बैठकों में प्रश्नकाल नहीं हो पाया। लिहाजा जनता के सवाल नहीं पूछे जा सके,हालांकि पांच साल के अंदर विधायकों का वेतन-भत्ता दो बार जरूर बढ़ा।

2019 में है झारखंड विधानसभा का चुनाव

झारखंड में विधानसभा की कुल 81 सीट हैं। झारखंड में पिछली बार भाजपा ने रघुवरदास के नेतृत्व में सरकार बनी थी। राज्य में चार माह बाद चुनाव होने वाले हैं। पार्टी ने लोकसभा चुनावों में राज्य में 11 सीटें जीतीं थी। आपको बता दें कि सीएम रघुवर दास ने विधायकों को अबकी बार 65 पार के लक्ष्य को हासिल करने का टास्क दिया है। गौरतलब है कि बिहार में गठबंधन धर्म निभाने वाली भाजपा-जदयू झारखंड में अलग अलग रहेगी। जदयू झारखंड में सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगा। इसका खुलासा पार्टी के प्रवक्ता संजय सिंह ने किया। पार्टी की एक बैठक में संजय सिंह ने कहा कि जदयू झारखंड में विधानसभा की सभी 81 सीटों पर चुनाव लड़ेगा।