बिहारी मजदूरों की निगरानी के लिए सरकार ने बनाई योजना, जिला स्तर पर सेल बनाने का लिया निर्णय

PATNA: सरकार ने बिहारी मजदूरों के हित को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। बिहारी मजदूर देश से बाहर किसी मुसीबत में न फंसे इसके लिए सरकार द्वारा एक योजना बनाई गई है। श्रम संसाधन विभाग द्वारा इसके लिए जिला स्तर पर एक सेल बनाने का निर्णय लिया गया है।

श्रम संसाधन विभाग द्वारा बनाई गई सेल में स्थानीय लोग, पुलिस और विभाग के पदाधिकारियों को शामिल किया गया है। इस सेल का काम स्थानीय थानों के सहयोग से उन एजेंटों पर निगरानी करना होगा जो देश से बाहर मजदूरों को अधिक पैसा कमाने का लालच देकर गलत तरीके से देश से बाहर भेजते हैं।

बहुत से एजेंट ऐसे होते हैं जो लोगों को देश से बाहर गलत तरीके से मजदूरी के लिए भेज देते हैं। इसी को देखते हुए सरकार ने इस सेल को बनाने का फैसला किया है। बता दें देश से बाहर नौकरी या मजदूरी के लिए जाने वाले लोगों काे सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधा की विभागीय समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई है।

इतना ही नहीं मजदूरों के लिए सरकार द्वारा पटना, गया, मुजफ्फरपुर और दरभंगा में प्रशिक्षण केंद्र भी खोले गए हैं। जहां, खाड़ी देशों में नौकरी के लिए जाने वालों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसी के साथ ही इन मजदूरों को विदेश में क्या-क्या करना है और किस देश में वह जाना चाहते है। इसकी भी पूरी जानकारी ली जाएगी। वहां के रहन-सहन के बारे में ट्रेनिंग दी जायेगी।