राजभवन में शुरू हुआ राज्यपाल पोषण माह, फागू चौहान ने 20 शिशुओं का किया अन्नप्राशन

PATNA : राज्यपाल फागू चौहान ने राजभवन में राज्यपाल पोषण माह के तहत अन्नप्राशन समारोह का उद्घाटन किया। इस मौके पर राज्यपाल ने कहा कि जीवन के प्रथम 1000 दिनों में शारीरिक और मानसिक विकास प्रक्रिया तेज रहती है। शिशुओं और माताओं को उचित पोषक आहार लेने के लिए समाज में जागरूकता जरूरी है।

राज्यपाल पोषण माह के अंतर्गत राज्यपाल फागू चौहान ने 6 माह के 20 नवजात शिशुओं को प्रथम आहार के रूप में पौष्टिक पोषाहार खिला कर अन्नप्राशन संस्कार किया। फागू चौहान ने कहा कि कमजोर और अभिवंचित वर्ग की महिलाओं और नवजात शिशुओं के पोषण पर विशेष ध्यान देना जरूरी है। स्वस्थ्य शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है। नवजात शिशु का पालन-पोषण बचपन में ही समुचित रूप से हो जाता है तो व्यक्ति पूरी जिंदगी स्वस्थ्य रह सकता है। माताओं को हरी साग सब्जियों, ताजे फल, दाल, मछली, अंडे, दूध आदि पौष्टिक आहार लेना चाहिए, ताकि खुद के साथ शिशु को भी स्वस्थ्य रख सकती हैं।

आपको बता दें कि सितंबर को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। पोषण अभियान के तहत गर्भधारण से लेकर 1000 दिनों तक बच्चों की स्वास्थ्य रक्षा का प्रयास, खू’न की कमी से मुक्ति, डाय’रिया से मुक्ति, हाथ साफ रखने के सही तौर तरीके की जानकारी और स्वच्छता और सफाई की व्यवस्था एवं पौष्टिक आहार से जुड़े जन जागरूकता के विशेष कार्यक्रम पूरे राज्य में चलाए जा रहे हैं। इस मौके पर समाज कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अतुल प्रसाद ने कहा कि स्वस्थ भारत की परिकल्पना के अनुरूप कंद्र सरकार ने 2020 तक देश को राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत कुपो’षणमु’क्त बनाने का निर्णय लिया है।