चुनाव से पहले झारखंड में राजनीति तेज, हेमंत सोरेन से सीएम रघुवरदास को भेजा लीगल नोटिस

RANCHI : झारखंड में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इससे ठीक पहले सभी दल अपने अपने ती’र चलाने की तैयारी कर रहे हैं। 500 कराेड़ की जमीन खरीद के आ’राेप काे झू’ठा बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन ने मुख्यमंत्री रघुवर दास काे लीगल नाे’टिस भेजा है। जिससे राजनीतिक सरग’र्मियां तेज हो गयी हैं। हेमंत सोरेन की तरफ से भेजे गए इस नाेटिस में कहा गया है कि रघुवरदास सात दिन के भीतर लिखित या सार्वजनिक रूप से माफी मांगे।

एक प्रेस काॅन्फ्रेंस में हेमंत साेरेन ने कहा कि रघुवर दास ने पांच साल में सभी मान-मर्यादा का उल्लंघन करने हुए गा’ली-ग’लाैज और अ’पश’ब्दाें काे राजकीय भाषा बना दिया है। सार्वजनिक जीवन में काम करने वालाें के लिए छवि ही उनकी पूंजी हाेती है। लेकिन मुख्यमंत्री ने तरह-तरह के आ’राेप लगाकर उनकी छवि और प्रतिष्ठा काे नुकसान पहुंचाया है। हेमंत साेरेन ने कहा कि मुख्यमंत्री की आंखाें में झारखंडियाें और आदिवासियाें के लिए अपार घृ’णा दिखती है। झामुमाे ने उनसे भी मजबूत लाेगाें काे देखा है। झारखंडी म’र सकता है, लेकिन झुक नहीं सकता।

आपको बता दें कि झारखंड में इस साल दिसम्बर में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। इसमें झामुमो के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपने गठबंधन की एकता को बरकरार रख पाना है क्योंकि आये दिन राजद और कांग्रेस सीटों को लेकर आ’मने सामने आ जाते हैं। दूसरी तरफ सत्ताधारी भाजपा ने अपनी सभी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सीएम रघुवरदास जन आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं। कुछ दिन पहले पीएम मोदी ने राज्य की नयी विधानसभा का उद्घाटन कर दिया है। इससे राज्य में भाजपा अपने वादे को पूरा करने का दावा कर रही है।