बिहार में मुस्लिम व्यक्ति की गाय को जा’न पर खेलकर हिंदू लड़कों ने कुएं से निकाला

PATNA : बिहार के छपरा में हिंदू- मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल देखने को मिली। यहां गहरे कुएं में गिरी मुस्लिम परिवार की एक गाय को बचाने के लिए गांव के सभी हिंदू न केवल एकजुट हुए बल्कि कलश विसर्जन का कार्यक्रम छोड़कर गाय की जा’न भी बचाई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव के रहने वाले मोहम्मद निजामुद्दीन परिवार की गाय घूमते हुए गहरे कुएं में गिर गई। कुएं में गाय गिरने की खबर पूरे गांव में फैल गई। जानकारी मिलने के बाद लोगों ने घंटों मश’क्कत के कर गाय को गहरे कुएं से बाहर निकाला।

आपको बता दें कि गाय के कुएं में गिरते ही मोहम्मद निजामुद्दीन के परिवार के लोग परेशान हो गये क्योंकि ये गाय उनके परिवार की आय का प्रमुख स्रोत थी। परिजनों की पुकार सुनकर आस-पड़ोस में रहने वाले दर्जनों हिंदू जो सूर्योदय के पहले कलश विसर्जन के कार्यक्रम में लगे थे । पूजा छोड़कर गाय के रे’स्क्यू के लिए दौड़ पड़े। सुरेश यादव नाम के एक ग्रामीण ने जा’न जो’खिम में डालकर गहरे कुएं में उतरकर गाय के पेट में रस्सा बांधा।

जिसके बाद ऊपर खड़े दो दर्जन से अधिक युवाओं ने गाय को ऊपर खींचना शुरू किया लेकिन रस्सा टूट गया जिससे गाय पुनः गहरे कुएं में चली गई, लेकिन रेस्क्यू अभियान में जुटे युवाओं ने हिम्मत नहीं हारी और कड़ी मशक्कत के बाद गाय को कुएं से बाहर निकाल लिया। इस गांव के लोगों की ऐसी नेक भावनाओं का सभी लोग सम्मान कर रहे हैं और उन युवकों की तारीफ कर रहे हैं जिन्होंने गाय को कुएं से बाहर निकालने में मदद की।