शर्मसार हुई मानवता, अस्पताल ने नहीं दी गाड़ी तो श’व को बाइक से ले गए परिजन

PATNA: बिहार के सहरसा से मानवता को शर्मसार करने वाली खबर सामने आई है। जहाँ अस्पताल प्रशासन ने मृतक के परिजनों को एक गाड़ी भी मुहैया नहीं कराई। जिसके चलते मृतक के परिजनों को श’व को मोटरसाइकिल पर ले जाना पड़ा।

इस घटना को लेकर परिजनों का कहना है कि जब उन्होंने अस्पताल प्रशासन से स्ट्रेचर की मांग की तो इसके लिए भी साफ-साफ़ मन कर दिया गया। जिसके चलते मृतक बच्चे के परिजन करीब एक घंटे तक पोस्टमार्टम के बाहर शव को अपने हाथों में लिए खड़े रहे। उसके बाद भी प्रशासन की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया।

इतना ही नहीं परिजनों ने खुद ही पोस्टमार्टम रूम का दरवाजा भी खोला और उसके बाद शव को अंदर रखा। बताया जा रहा है कि बच्चे की मौत जिले में आई आंधी-तूफान के चलते हुई। जब बच्चे के परिजन अस्पताल ले गए तो वहां उसकी मौ’त हो गई। वहीँ मिल रही जानकारी के अनुसार अस्पताल में शव वाहन मौजूद था लेकिन उनको उपलब्ध नहीं कराया गया।

वहीँ इस मामले पर अभी तक अस्पताल प्रशासन की कोई भी प्रतिक्रया सामने नहीं आई है। जिस तरह से अस्पताल प्रशासन ने मृतक के परिजनों के साथ वर्ताव किया वह वकैय मानवता को शर्मसार करने वाला है।