गि’रफ्तारी के लिए पुलिस कर रही दिन रात छापेमारी, अपने सरकारी आवास से फरार हुए अनंत सिंह

PATNA: AK- 47 और 2 बम मिलने के बाद निर्दलीय विधायक अनंत सिंह की परेशानियां बढ़ने वाली हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिये दिन रात छापेमारी कर रही है।शनिवार देर रात को भी पटना पुलिस ने अनंत सिंह के घर पर छापेमारी की। 

पुलिस की टीम ने शनिवार देर रात उनके पटना स्थित सरकारी आवास पर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की। आवास के चप्‍पे-चप्‍पे की तलाशी ली गई, लेकिन निर्दलीय विधायक अनंत सिंह अपने आवास से पहले ही फरार हो गए।

इस छापेमारी को लेकर पुलिस ने बताया कि अनंत सिंह की गिरफ्तारी तो नहीं हुई लेकिन पुलिस ने अपनी इस छापेमारी में अनंत सिंह के एक साथी और पटना पुलिस के वांटेड अपराधी को गिरफ्तार किया है।

इस मामले को लेकर पुलिस की विशेष टीम बनाई गई है। इस टीम ने रात के करीब साढ़े 12 बजे विधायक अनंत सिंह के सरकारी आवास पर छापेमारी की। टीम में एसटीएफ एसपी, सिटी एसपी के साथ अन्य कई थानों की पुलिस शामिल थी। पुलिस ने बताया कि इस छापेमारी से पहले ही अनंत सिंह आवास छोड़कर फरार होने की भी सूचना आई, जिसकी पुष्टि खुद पुलिस ने भी की।

वहीँ इस मामले को लेकर बिहार की सियासत भी गरमा गई है। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी नेAnant Singh का बचाव करते हुए कहा कि इस कार्रवाई से लगता है बिहार में सरकार ही एक क्रिमिनल है। मांझी ने कहा कि अनंत सिंह को साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि अनंत सिंह के जिस घर से AK-47 और 2 बरामद हुए उस घर में अनंत सिंह करीब 14 वर्ष तक गए ही नहीं। अनंत सिंह को राजनीति के तहत शिकार बनाया जा रहा है।

रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी साधा नीतीश सरकार पर निशाना:

इसी के साथ ही आरजेडी नेता Raghuvansh Prasad singh ने भी Anant Singh मामले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जो भी व्यक्ति केंद्र और नीतीश सरकार के खिलाफ आवाज उठाएगा उसपर जाँच बिठा दी जाएगी। रघुवंश सिंह ने कहा कि हमें नहीं पता कि किसके घर में AK-47 रखा गया। हमने तो नहीं रखा, लेकिन हम भी बहुत कुछ जानते हैं।