आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई, सरकारी इंजीनियर ने की 10 करोड़ से अधिक की गड़बड़

PATNA : बुधवार को सुबह-सुबह आयकर विभाग की टीम ने तीन गाड़ियों के साथ पदस्थापित एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के आवास पर छापेमारी की। आयकर विभाग की टीम ने पटना के गांधी मैदान थाना क्षेत्र स्थित इंजीनियर के आवास रामायण अपार्टमेंट में बड़े अधिकारीयों के साथ अचानक छापेमारी की। आयकर विभाग को इस छापेमारी में कई महत्वपूर्ण बातें पता चली हैं।

मीण कार्य विभाग के एक्जिक्यूटिव इंजीनियर मुरलीधर प्रसाद निजी कंपनी के मालिक तो हैं ही, आयकर विभाग की टीम को जांच में अब तक 10 करोड़ से अधिक की गड़बड़ी का पता चला है। इसी के साथ ही एक्जिक्यूटिव इंजीनियर मुरलीधर प्रसाद निजी कंपनी के मालिक हैं इसका भी खुलासा हुआ है। आयकर विभाग की टीम इंजीनियर मुरलीधर प्रसाद के घर से मिले कागजातों की जांच कर रही है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

आयकर विभाग द्वारा इंजीनियर मुरलीधर प्रसाद के घर से मिले कागजातों को देखकर बड़ी गड़बड़ी की संभावना व्यक्त की गई है। आयकर विभाग की जांच के तीसरे दिन देर शाम इंजीनियर मुरलीधर प्रसाद के गांधी मैदान के पास स्थित रामायण अपार्टमेंट में छानबीन चलती रही। विभाग को अबतक की छानबीन में 36 लाख रुपए के कैश के साथ फ्लैट और जमीन से जुड़े बड़ी संख्या में कागजात मिले हैं।

घर से मिले कागजात आयकर विभाग की टीम को पता चला है कि इंजीनियर होने के बाद भी मुरलीधर प्रसाद ने अपनी बेटी के नाम पर निजी कंपनी लवली रानी कंस्ट्रक्शन कंपनी प्राइवेट लिमिटेड खोल रखी है। इस कंपनी में मुरलीधर प्रसाद ने अपनी पत्नी सरोज बाला और दोनों बेटों को निदेशक बनाया है। वहीँ जब एक बेटे को बेंगलुरु में नौकरी लग गयी, तो उसका नाम कंपनी के निदेशक मंडल से हटा दिया गया। मुरलीधर प्रसाद की इस कंपनी में प्रभाकर गुप्ता के साथ कुछ अन्य लोगों के नाम भी कम्पनी पार्टनरके रूप में सामने आए हैं।