लगातार बढ़ रही है महागठबंधन में क’लह, सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस और RJD में बढे मत’भेद

PATNA : बिहार में एक लोकसभा और पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने वाले हैं। इससे पहले ही सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस और राजद में विवा’द शुरू हो गया है। कांग्रेस नेता सदानंद सिंह ने पांच विधानसभा सीटों में से सिमरी बख्तियारपुर, नाथनगर और किशनगंज पर अपना दावा किया है। साथ ही समस्तीपुर की लोकसभा सीट पर भी कांग्रेस ने दा’वा किया है। राजद इस पर राजी नहीं है।

दूसरी ओर आरजेडी चार सीटों पर चुनाव ल’ड़ने की तैयारी कर रही है। आरजेडी ने कांग्रेस को साफ लहजे में कहा है कि वह अपनी औकात में रहे। पार्टी के विधायक विजय प्रकाश ने बिहार में आरजेडी को बड़ी पार्टी बताते हुए बड़ी दावेदारी की बात कही है। उन्‍होंने कहा कि बिहार के नेताओं के दावों का कोई मतलब नहीं है, इसके लिए सोनिया गाँधी से बात होगी।

आपको बता दें कि सदानंद सिंह पहले भी कई बार कह चुके हैं कि बिहार में कांग्रेस को मजबूत होने के लिये दूसरों का सहारा छोड़ना पड़ेगा। लम्बे समय से कांग्रेस के भीतर से ये आवाज उठती रही है कि बिहार में उसे राजद से अलग रास्ता खोजना चाहिये। राजद के साथ मिलकर कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव लड़ा था जिसमें उसे करा’री हार का सा’मना करना पड़ा था।

आपको बता दें कि बिहार में कांग्रेस ने ठान लिया है कि वह महागठबंधन में पिछलग्गू बनकर नहीं रहेगी तो आरजेडी ‘बड़े भाई’ की भूमिका को छोड़ने के लिए तैयार नहीं। कई कांग्रेस नेता भी मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी यादव को अयो’ग्य ठहरा चुके हैं। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार अच्‍छे काम कर रहे हैं और इसका फायदा बिहार विधानसभा चुनाव में मिलेगा। बिहार में नीतीश ही एनडीए के नेता हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में फिर एनडीए की जीत होगी।