इटली की महिला ने बिहार में खरीदी जमीन, ताकि लावारिस जानवरों को दफनाया जा सके

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

Patna: इटली की एड्रियाना फ्रेंटी ने बोधगया में 10 कट्ठे (करीब 7200 वर्ग फीट) जमीन खरीद कर यहां लावारिस जानवरों खासतौर पर स्ट्रीट डॉग्स का इलाज करती है। साथ ही यहां लावारिस पशुओं को दफनाया भी जाता हैं। उन्होंने पशुओं के लिए अपने घर को ही अस्पताल का रूप दिया है।

तो वहीं जानवरों के संरक्षण में लगीं एड्रियाना फ्रेंटी की संस्था के कर्मचारी ग्रामीण और शहरी इलाकों से लावारिस बीमार जानवरों को लाते हैं और उन्हें संस्था के अस्पताल में रखकर इलाज किया जाता है। साथ ही जरूरत पड़ने पर कुशल चिकित्सक के द्वारा पशुओं का ऑपरेशन भी किया जाता है। उसे संस्था में पूरी तरह ठीक होने तक रखा जाता है। फिर उसे उसके इलाके में ले जाकर छोड़ दिया जाता है। अधिक बीमारी के कारण जो जानवर मर जाता है। तय जमीन पर दफन किया जाता है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

दरसल एड्रियाना फ्रेंटी 1982 में इटली से बोधगया घूमने भारत आई थीं। यहां की संस्कृति से प्रभावित होकर उन्होंने बौद्ध धर्म अपना लिया। बोधगया के ग्रामीण इलाके में 1991 में सफर के दौरान उन्होंने एक लावारिस कुत्तेे के शव को नदी किनारे फेंके जाते देखा। यह देखने के बाद उन्होंने जानवरों के इलाज और उन्हें सम्मानपूर्वक दफनाए जाने का इंतजाम करने की ठानी। इसके बाद उन्होंने धंधवा गांव के रास्ते में जमीन खरीदी और जानवरों का अस्पताल खोला।

जानवरों का यह कब्रिस्तान 1992 से अस्तित्त्व में है। कब्रिस्तान में दफन किए जाने के बाद जानवरों की पहचान के लिए एक तख्ती लगाई जाती है, इसमें उनके नाम और उन्हें यहां लाने की तारीख लिखी रहती है। जानवरों के शवों को धार्मिक कर्मकांड के बाद दफनाया जाता है। उन्हें पाली भाषा में लिखे मंत्र के कागज और भगवान बुद्ध को चढ़ाए गए चीवर से ढका जाता है। शव को कंधे पर लेकर संस्था में बने बौद्ध स्तूप की तीन या पांच परिक्रमा करवाई जाती हैं। 27 सालों से यहां गाय, कुत्ता, बकरी, मुर्गी, मछली, कछुआ, खरगोश, पेड़ से मरकर गिरे पक्षियों समेत करीब तीन हजार से भी अधिक जानवरों को इस कब्रिस्तान में दफनाया गया है।

About Vishal Jha

I am Vishal Jha. I specialize in creative content writing. I enjoy reading books, newspaper, blogs etc. because it strengthened my knowledge and improve my presentation abilities

View all posts by Vishal Jha →