लालू यादव ने जेल से बांटे RJD प्रत्याशियों के टिकट, JDU ने आयोग से टिकट रद्द करने की मांग की

PATNA: जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे बिहार की राजनीति में गरमाहट बढ़ती जा रही है। अब जेडीयू ने निर्वाचन आयोग से आरजेडी के उम्मीदवारों के टिकट रद्द करने की मांग की है।

जेडीयू की ओर से आरजेडी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा गया है कि लालू प्रसाद यादव ने जेल में रहते हुए आरजेडी का संचालन किया और पार्टी उम्मीदवारों के टिकटों का वितरण भी किया है। जेडीयू की ओर से इसकी जांच करने और तुरंत आरजेडी के सभी उम्मीदवारों के टिकट रद्द करने की मांग निर्वाचन आयोग से की है। जेडीयू की ओर से निर्वाचन आयोग की ओर से एक पत्र भी लिखा गया है। अपने पत्र में जेडीयू की ओर से लिखा गया है कि आखिरकार किस तरह से लालू यादव ने जेल में रहते हुए पार्टी के उम्मीदवारों को हस्ताक्षर कर टिकट बाँट दिए। इसको लेकर चुनाव आयोग को कड़ा एक्शन लेते हुए कार्रवाई करनी चाहिए।

QUAINT MEDIA

जेडीयू के आरोप पर आरजेडी ने बचाव करते हुए अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जेडीयू के नेताओं के अंदर बेचैनी है। उन्होंने कहा कि जब एक व्यक्ति न्यायिक हिरासत में होते हुए भी चुनाव लड़ सकता है तो पार्टी के लिए टिकट बांटने में क्या गलत है। इसी के साथ ही शिवानंद तिवारी ने आगे कहा कि आरजेडी ने जब लालू यादव को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत कर रखा है तो उनके द्वारा टिकट बांटने में गलत बात क्या है ?