बिहार के विशेष राज्य की मांग पर सियासत हुई तेज, JDU ने लोकसभा में उठाया मुद्दा

PATNA: बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग एक बार फिर से जोर पकड़ने लगी है। इस बार जेडीयू सांसद ने लोकसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान बिहार के विशेष राज्य की मांग उठाई है। जिसको लेकर राजनीतिक माहौल गरमा गया है।

जेडीयू सांसद कौशलेन्द्र कुमार ने लोकसभा के शीतकालीन सत्र में बिहार को विशेष राज्य के दर्जा का मामला जोरशोर से उठाया। इसी के साथ ही जेडीयू के एक अन्य सांसद दिनेश चंद्र यादव ने भी अपने सांसद का साथ देते हुए कहा कि विशेष राज्य के प्रस्‍ताव का सभी राजनीतिक दलों ने बिहार विधानसभा में समर्थन किया था।

जेडीयू की मांग को लेकर बिहार BJP और JDU के नेता आमने-सामने आ गए हैं। बिहार नीजेपी के पूर्व अध्‍यक्ष और राज्यसभा सांसद गोपालनारायण सिंह ने जेडीयू सांसद की मांग पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्‍होंने इसे जेडीयू और CM नीतीश कुमार का शिगूफा बताया है। उन्होंने यह भी कहा कि बिहार में जेडीयू के पास कोई मुद्दा नहीं बचा है।

बीजेपी नेता यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि बिहार का पूरा सिस्टम ही भ्रष्ट हो गया है। नीतीश कुमार ने बिहार में टेक्स्ट के सभी रास्ते बंद कर दिए हैं। सीएम नीतीश ने शराबबंदी को लेकर कानून तो बना दिया लेकिन उसे सही से लागू नहीं कराया। राज्य में बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है।

वहीँ विपक्षी दलों ने भी इसको लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोला है। आरजेडी नेता और तेजस्वी यादव के करीबी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा है कि आखिर चुनाव आने पर ही जेडीयू को इस मुद्दे की याद क्यों आती है?