जीतनराम मांझी का बयान- समय आने पर अमित शाह, नीतीश को देंगे झ’टका

PATNA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने भाजपा और जदयू के गठबंधन पर नि’शाना सा’धते हुए कहा कि भाजपा को डर है कि बिहार में उनकी पार्टी कमजोर हैं, इसलिए वो अभी नीतीश कुमार को नहीं छोड़ेंगे लेकिन उचित समय आने पर अमित शाह नीतीश को झटका जरूर देंगे।

जीतनराम मांझी ने कहा कि बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 2020 में नीतीश कुमार के नेतृत्व में विधानसभा चुनाव ल’ड़ने का ऐलान कर चुके हैं। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है। कुछ दिन पहले जब नीतीश कुमार अनुच्छेद 370, 35ए, तीन तलाक और एनआ’रसी के खि’लाफ में थे तो बीजेपी के नेता उनके खिलाफ बयानबाजी कर रहे थे। बता दें कि मांझी 13 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक उपचुनावों का छह दिवसीय दौरा संपन्न कर पटना वापस लौटे हैं।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले अमित शाह ने कहा था कि बिहार में 2020 के आम चुनाव में नीतीश कुमार ही NDA के चेहरा होंगे। हमारा गठबंधन अटल है। गठबंधन में विवाद चलता रहता है। विधानसभा चुनाव नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। गठबंधन में बीजेपी और जेडीयू के बीच चल रहे विवाद पर अमित शाह ने कहा था कि गठबंधन में मतभेद हो सकता है लेकिन मन भेद नहीं होना चाहिए।

इस पर मांझी ने कहा कि मैं एक बात की भविष्यवाणी करता हूं कि गृह मंत्री अमित शाह लाख स्पष्ट करें कि नीतीश कुमार के साथ उनका उनका गठबंधन अटल है, लेकिन मैं इसे नही मानता। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों के बाद अमित शाह निश्चित रूप से नीतीश कुमार को करारा झटका देंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी को आमंत्रण देकर भोजन कराने से मना कर दिया था, इस बात को बीजेपी भूल नहीं सकती है, इसलिए अमित शाह इसका बदला जरूर लेंगे।