तेजस्वी यादव 28 जून से पहले सक्रिय राजनीति में आ जायेंगे- जीतन राम मांझी

PATNA: हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने तेजस्वी यादव के बारे में कहा कि 28 जून को बिहार विधानसभा का सत्र शुरु होने वाला है, नेता प्रतिपक्ष होने के कारण तेजस्वी, सत्र शुरु होने से एक-दो दिन पहले सक्रिय राजनीति में लौट आयेंगे।

जीतनराम मांझी का कहना है कि अगर तेजस्वी यादव राजनीतिक जीवन में नहीं है तो इसपर राजनीति नहीं होनी चाहिए। तेजस्वी नौजवान है और 225 मीटिंग किया है, इसके अलावा एक भी लोकसभा सीट नहीं जीत पाया तो उन्हें दुख हुआ है और स्वास्थ्य भी गिर गया है, इसलिए कुछ समय के लिए आराम कर रहे हैं। जैसै ही वे पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं, वैसे ही पुनः राजनीतिक जीवन में चले आयेंगे। जीतनराम ने यह भी कहा कि मैं 117 मीटिंग किया हूं, जिसके कारण मेरी तबीयत खराब हो गयी जबकि तेजस्वी ने तो 225 मीटिंग की है।

Jitanram Manjhi and Tejashwi yadav
तेजस्वी यादव, अभी राजनीतिक रुप से उतने अनुभवी नहीं हैं

उन्होंने कहा कि पहली बार उनके ऊपर इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गयी। उन्होंने पुरजोर मेहनत भी किया, लेकिन अपेक्षित परिणाम नहीं मिल सका। यहां तक की एक भी सीट नहीं जीत पाये, इसलिए थोड़े मायूस भी हैं। तेजस्वी 27-28 साल के नौजवान हैं। इतने कम उम्र में लोग राजनीतिक रुप से उतने अनुभवी नहीं हो पाते हैं।

जीतनराम मांझी ने यह भी कहा कि लालू प्रसाद यादव और मेरे जैसे लोग, जो बहुत समय से राजनीति कर रहे हैं तो हमलोगों को इसके बारे में एक अच्छा खासा अनुभव प्राप्त हो गया, इसलिए हार-जीत पर ज्यादा विचलित नहीं होते हैं, लेकिन तेजस्वी यादव अभी-अभी राजनीति में आये हैं और एकाएक हार का सामना करना पड़ा है तो थोड़ा विचलित हो गये हैं, जो स्वाभाविक भी है। ऐसा किसी भी अनुभवहीन राजनेता के साथ हो सकता है। इस हार के कारण उन्हें काफी दुख हुआ, इसलिए तेजस्वी कुछ दिनों के लिए राजनीतिक जीवन और हमलोगों से दूरी बना लिये हैं।