मुस्लिम वकील की इस एक बात पर जज यूयू ललित ने अपने आपको राम मंदिर सुनवाई से अलग किया

PATNA : सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश यूयू ललित ने खुद को उस संविधान पीठ से अलग कर लिया है जिसे राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि के मालिकाना हक के मामले की सुनवाई के लिए गठित किया गया है। खबर के मुताबिक मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील राजीव धवन द्वारा दी गई एक जानकारी के बाद न्यायाधीश ने खुद को सुनवाई से अलग कर लिया।

पीटीआई ने बताया कि आज मामले की सुनवाई शुरू होते ही राजीव धवन ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया कि जस्टिस ललित उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की पैरवी करने के लिए 1994 में अदालत में पेश हुए थे। हालांकि धवन ने कहा कि वे जस्टिस ललित के मामले की सुनवाई से अलग होने की मांग नहीं कर रहे, लेकिन न्यायाधीश ने स्वयं को मामले की सुनवाई से अलग करने का फैसला किया। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने एक नई पीठ के समक्ष मामले की सुनवाई के लिए 29 जनवरी की तारीख तय की है।

Supreme-Court-1

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट में फिर मिली नई तारीख, 29 को होगी अगली सुनवाई : सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या विवाद केस को लेकर आज सुनवाई हुई। उच्चतम न्यायालय के पांच जजों की संविधान पीठ ने राजनीतिक रूप से संवेदनशील अयोध्या में राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले पर सुबह 10.30 बजे से सुनवाई शुरू की। इस पीठ में मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति एन वी रमण, न्यायमूर्ति उदय यू ललित और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ शामिल थे। बाद में जस्टिस यूयू ललित ने जब खुद को अलग करने का आग्रह किया तो कोर्ट ने कहा कि 29 जनवरी को नई बेंच का गठन किया जाएगा।

 

जस्टिस यूयू ललित ने खुद को केस से अलग रखने को कहा। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि तीरीख के लिए किसी और दिन बैठना होगा। सीजेआई ने कहा कि संविधान पीठ को भेजने का फैसला कोर्ट ने किया था। राजीव धवन ने जस्टिस यूयू ललित पर सवाल उठाए थे जिसके बाद उन्होनें खुद को सुनवाई से अलग कर दिया है। वहीं हरीश साल्वे ने कहा कि उन्हें जस्टिस यूयू ललित से कोई समस्या नहीं है। चीफ जस्टिस ने कहा है कि आज तारीख तय करनी है। राजीव धवन से सीजेआई ने पूछा आप किसके वकील हैं। धवन ने कहा कि जस्टिस यूयू ललित 1994 में कल्याण सिंह के वकील के रूप में पेश हो चुके हैं। धवन ने सवाल उठाने के बाद माफी मांगी।

The post मुस्लिम वकील की इस एक बात पर जज यूयू ललित ने अपने आपको राम मंदिर सुनवाई से अलग किया appeared first on Mai Bihari.