झारखण्ड में नये मोटर व्हीकल एक्ट का विरो’ध करेगी JVM

PATNA: बाबूलाल मरांडी ने कहा कि उनकी पार्टी झारखंड में नये मोटर व्हीकल ए’क्ट का वि’रोध करेगी क्योंकि ये कानून लोगों को परे’शान कर रहा है। ये कानून भ्र’ष्टा’चार को बढ़ावा देने वाला है। उन्होंने झारखंड सरकार से मांग की है कि गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश और प. बंगाल सरकार की तरह झारखंड भी इस कानून को खा’रिज किया जाये।

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि भाजपा सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी से ग’ड़ब’ड़ाई अर्थव्यवस्था के कारण पैसा लेने का नया तरीका अजमाया है। सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था बर’बाद कर दी है। बाबूलाल मरांडी शनिवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जितनी गाड़ी की वैल्यू नहीं होती, उससे ज्यादा जु’र्माना लिया जा रहा है। यह कानून लोगों को सुधारने के लिए नहीं, बल्कि कर’प्शन बढ़ाने के लिए बनाया गया है।

झारखंड में अगले महीने कभी भी चुनाव की तारीखों का ऐलान संभव है। ऐसे में भाजपा लगातार दोबारा सत्ता में वापसी के लिए कोशिशें कर रही है। सीएम रघुवरदास ने विधायकों को अबकी बार 65 पार के लक्ष्य को हासिल करने का टास्क दिया है। इसके लिए सभी विधायकों को 50 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य सौंपा गया था। झारखंड में पिछली बार भाजपा ने रघुवरदास के नेतृत्व में सरकार बनी थी। कुछ दिन पहले JVM प्रमुख बाबूलाल मरांडी और हेमंत सोरेन के बीच महागठबंधन को लेकर चर्चा हुई थी। दोनों नेताओं ने तकरीबन आधा घंटे तक मुलाकात की थी और बाद में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि महागठबंधन में सब कुछ ठीक है। अभी सीटों के बंटवारे पर बात नहीं हुई है।