पहली बार झारखंड में कैलाश खेर बिखेरेंगे जलवा, सावन के अंतिम सोमवार पर होगा कार्यक्रम

RANCHI : सावन के अंतिम सोमवार पर झारखंड के जमशेदपुर में कैलाश खेर अपने भजनों को प्रस्तुत करेंगे। झारखंड में कैलाश खेर का ये पहला कार्यक्रम होगा। हर-हर महादेव सेवा संघ की ओर से आयोजित होनेवाली भजन संध्या में प्रख्यात गायक कैलाश खेर शिव भक्ति का जलवा बिखेरेंगे। ये कार्यक्रम जमशेदपुर के साकची गुरुद्वारा मैदान में आयोजित होगा।

भजन संध्या का प्रारंभ परंपरागत ढंग से शहर के भजन कलाकार बी कृष्णमूर्ति एवं उनके सहयोगी करेंगे। बारिश का मौसम होने कारण इसबार भी वाटरप्रूफ पंडाल का निर्माण किया जा रहा है। कार्यक्रम में लगभग 25000 लोग शामिल होंगे। साथ में सभी के लिए चाय और खिचड़ी की व्यवस्था होगी। आपको बता दें ये सावन का आखिरी सोमवार होगा। भगवान शिव की आराधना के लिए ये महीना सबसे प्रिय माना जाता है। सावन में विशेष रूप से शिव जी को गंगा जल चढ़ाया जाता है और ये भक्ति साधना पूरे सावन भर चलती है।

आपको बता दें कि इस बार भोले नाथ की बारह फीट ऊँची मूर्ति पांडाल में लगायी जाएगी। ये भगवान शिव के बाबा बर्फानी रूप में बनायीं जाएगी। कैलाश खेर अक्सर शंकर जी के आध्यात्मिक कार्यक्रमों में प्रतिभाग करते हैं। आपको बता दें कि कैलाश खेर एक भारतीय पॉप-रॉक गायक है जिनकी शैली भारतीय लोक संगीत से प्रभावित है। कैलाश खेर ने अबतक 18 भाषाओं में गाने गाया हैं और 300 से अधिक गीत बॉलीवुड में गाये है। कैलाश ने भगवान शिव के कई लोकप्रिय भजन गए हैं जो लोगों द्वारा बहुत पसंद किये जाते हैं। जिनमे ‘आदियोगी’ भजन बहुत लोकप्रिय है।