मुजफ्फरपुर पहुंचे कन्हैया कुमार, कहा-गांव-गांव जाकर चमकी बुखार के प्रति लोगों को करेंगे जागरुक

PATNA: भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता और खुद को बेगूसराय का बेटा कहने वाले कन्हैया कुमार, चमकी बुखार पीड़ितों से मिलने के लिए मुजफ्फरपुर पहुंच चुके हैं। कन्हैया कुमार ने मुजफ्फरपुर के SKMCH में चमकी बुखार से म’र रहे बच्चों और उनके परिजनों से मुलाकात की और स्थिति का जायजा लिया। 

Kanhaiya kumar

हालांकि कहा जा रहा है कि उन्हें अस्पताल के अंदर जाने नहीं दिया जा रहा था। इतना ही नहीं, उन्होंने अस्पताल के डॉक्टरों से भी हालात का जायजा लिया और सरकार द्वारा की जा रही प्रयासों से रु-ब-रु हुए। SKMCH के मेडिकल सुपरिटेंडेन्ट ने कहा कि यहां आपलोगों को आने की जरुरत नहीं है। आपलोग गांव और जनता के पास जाकर उन्हें जागरुक कीजिए।

मीडिया से बात करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा कि अभी राजनीति और एक-दूसरे पर आ’रोप-प्रत्या’रोप करने का समय नहीं है। हमलोग गांव और जनता के बीच जाकर उन्हें जागरुक करेंगे और चमकी बुखार के प्रति लोगों को सचेत करेंगे। उन्होंने इस दुख की घड़ी में सबको सहयोग करने की बात कही और कहा कि नेताओं को गांव जाकर जनता को जागरुक करना चाहिए।

वहीं अस्पताल परिसर में कुछ लोगों ने उनके आगमन का विरो’ध करते हुए कहा कि वे यहां बच्चों देखने के लिए नहीं बल्कि राजनीति करने आये हैं। विरो’ध कर रहे नेताओं का कहना है कि यहां कोई भी नेता नहीं आये। अगर कोई नेता आना चाहते हैं तो अपने साथ डॉक्टरों की टीम लेकर आये। SKMCH में विरोध करने वाले लोगों का कहना है कि नेता, अपनी राजनीति की रोटी सेंकने के लिए मुजफ्फरपुर आते हैं।

आपको बता दें कि कन्हैया कुमार, केन्द्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह के खिला’फ बेगूसराय लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव ल’ड़े, लेकिन हा’र गये।