बिहार के कीर्ति आजाद हो सकते हैं दिल्ली कांग्रेस के नये अध्यक्ष

PATNA : दिल्ली कांग्रेस में नये अध्यक्ष को लेकर चर्चा शुरू हो गयी है। कयास लगाये जा रहे हैं कि मूल रूप से बिहार के रहने वाले कीर्ति आजाद नये अध्यक्ष हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के मद्देनजर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार शाम दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद के नाम पर मुहर लगा दी है, हालांकि अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है।

यदि पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद दिल्ली कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बन जाते हैं तो फिर भाजपा और कांग्रेस दोनों के अध्यक्ष बिहारी ही होंगे क्योंकि अभी मनोज तिवारी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष हैं।

सोनिया गांधी दिल्ली के नए कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अजय माकन, जेपी अग्रवाल, अरविंदर सिंह लवली, सुभाष चोपड़ा समेत 50 नेताओं से मुलाकात-चर्चा कर चुकी हैं। अब भाजपा की राह पर चलते हुए कांग्रेस ने भी अपना अध्यक्ष बिहारी बनाने का फैसला किया है। आपको बता दें कि भाजपा ने 2016 में सतीश उपाध्याय की जगह मनोज तिवारी को प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। बड़ा बात ये है कि कीर्ति आजाद भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आए हैं।

1993 के विधानसभा चुनाव में कीर्ति आजाद गोल मार्केट विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते थे। 1998 में वह इसी सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार शीला दीक्षित से चुनाव हार गए। बदली परिस्थितियों में कीर्ति उन्हीं शीला दीक्षित की गद्दी संभालेंगे, जो उनके निधन से खाली हुई है। कीर्ति भाजपा के टिकट पर बिहार के दरभंगा से तीन बार सांसद बन चुके हैं और इस बार वो कांग्रेस में शमिल हो गये थे।