दरभंगा सीट से कीर्ति आज़ाद का कट सकता टिकट, अब्दुल बारी सिद्दीकी को मिल सकता है मौक़ा

PATNA : भाजपा का दामन छोड़कर कांग्रेस की शरण में पहुंचने वाले क्रिकेटर से नेता बने कीर्ति आजाद ( KIRTI AZAD)  की दरभंगा सीट को लेकर पेंच फंसता नजर आ रहा है। कांग्रेस में शामिल होने के बाद कीर्ति आजाद ने दरभंगा से चुनावी मैदान में उतरने की पूरी तैयारी कर ली थी लेकिन अब उनकी इस सीट को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर कहा जा रहा है कि दरभंगा सीट आरजेडी के खाते में जाने वाली है। अब देखना होगा कि कीर्ति आजाद किस सीट से अपनी दावेदारी पेश करते हैं। वहीँ बता दें कि बिहार कांग्रेस विधायक भावना झा के एक बयान के बाद दरभंगा और मधुबनी सीट पर पेंच फंसने की बात सामने आ रही है। बता दें कि दरभंगा के बेनीपट्टी से विधायक भावना झा ने मधुबनी सीट पर शकील अहमद के नाम को आगे रखा है। उन्होंने कहा कि अब्दुल बारी सिद्दीकी दरभंगा सीट से चुनाव लड़ें तो महागठबंधन के लिए अच्छा होगा।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

इसी के साथ ही विधायक भावना झा ने कहा कि कीर्ति आजाद पार्टी के बड़े नेता हैं वो बिहार की किसी भी सीट से चुनाव जीत सकते हैं। वहीँ दरभंगा लोकसभा सीट पर अब्दुल बारी सिद्दीकी को मिलेगी तो ज्यादा अच्छा रहेगा। बता दें कि मधुबनी लोकसभा सीट पर शकील अहमद की मजबूत पकड़ मानी जाती हैं। अब देखना होगा दरभंगा या मधुबनी कीर्ति आजाद इन दोनों सीटों में से किस सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगे या वो बिहार की किसी अन्य सीट से ही चुनाव लड़ेंगे।

बता दें कि महागठबंधन में सीटों का बंटवारा अब लगभग तय हो गया है। शुक्रवार को हुई कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक के बाद कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह ने बताया कि बिहार मेंकांग्रेस्स 11 सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारेगी। आगरा बात अन्य सीटों की करें तो आरजेडी के खाते में 20 सीटें जाने की बात सामने आई है। बची हुई सीटों पर महागठबंधन के अन्य दल अपने उम्मीदवार उतारेंगे।