रिक्शा चालक से नगर परिषद के चेयरमैन बने हीरा पासवान, कहा- सपने में भी नहीं सोचा था ऐसा होगा

PATNA: बिहार के किशनगंज से एक अच्छी खबर सामने आ रही है। जहाँ एक रिक्शा चालक को नगर परिषद का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। चेयरमैन बनने के बाद से कजलामुनी गांव में लोगों के बीच ख़ुशी का माहौल है।

कजलामुनी के रहने वाले रिक्शा चालक हीरा पासवान को वार्ड नंबर 18 का नगर परिषद का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। हीरा पासवान ने कड़ी मेहनत के दम पर रिक्शा चालक से चैयरमैन तक का सफर तय किया है।

मीडिया से बात करते हुए हीरा पासवान ने बताया कि उसने सपने में भी नहीं सोचा था कि वह भी नगर परिषद का चेयरमैन बन सकता है। इसी के साथ ही हीरा पासवान ने बताया कि उसका राजनीति से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं था। साल 2007 में पहली बार वार्ड पार्षद का चुनाव लड़ा, लेकिन पूंजीपतियों के सामने नहीं टिक पाया और वह चुनाव हार गया था।

इसी के साथ ही हीरा पासवान ने आगे कहा कि चुनाव हारने के बाद उन्होंने समाज सेवा करना शुरू कर किया दी। उन्होंने बताया कि वह घर-घर जाकर गैस सिलेंडर पहुंचाने का काम करने लगे। गैस वेंडर होने के कारण सभी घरों में आना जाना लगा रहता था। वर्ष 2017 नगर परिषद की चुनाव में वॉर्ड नंबर 18 का सीट एससी का रिजर्व हो गया। वहीँ लोगों ने मुझे चुनाव लड़ने के लिये प्रेरित किया।

वहीँ जब हीरा पासवान की पत्नी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनके पति ने बहुत मेहनत की है। पहले वो रिक्शा और ठेला चलाते थे। फिर घर-घर जाकर गैस पहुंचाने का काम करने लगे। हमलोंगों ने गरीबी की मार झेली है. मुझे पूरी उम्मीद है कि मेरे पति गरीबों को न्याय दिलाएंगे।